Hindi Saxy Kahani

आधी सफलता

लेखिका : माया सिंह मेरी कहानियों को पढ़ने वाले अनेक व्यक्ति मुझे कुछ गलत समझ लेते हैं और ऐसे प्…

कुंवारी भोली-4

शगन कुमार थोड़ी देर बाद भोंपू ने दोनों टांगों और पैरों की मालिश पूरी की और वह अपनी जगह बैठे …

काशीरा-लैला -1

चचाजान का खत आया कि वो तीन चार दिन के लिये हमारे यहाँ आ रहे हैं। जब मैंने काशीरा को चचा-चचीजान के आ…

Diwali Gift To My Office Friend Nisha

Hi dosto mera naam Amit hai and main Delhi se hu… Meri achi personality hai and mera penis 6inches …

मामा ने सफ़ाई की

मेरा नाम मेहराना है। अभी मेरी उम्र 24 साल की है। अभी तक अविवाहित हूँ लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि मेरी…

पहला आनन्दमयी एहसास -3

अन्तर्वासना के सभी पाठकों का एक बार फिर से मेरा तहे दिल से नमस्कार। आप सभी ने मेरी पिछली कहानी पहला आन…

मधुर प्रेम मिलन-2

प्रेषिका : स्लिमसीमा ‘मधुर, क्या मैं एक बार आपके हाथों को चूम सकता हूँ?’मेरे अधरों पर गर्वीली म…

मधुर प्रेम मिलन-1

प्रेषिका : स्लिमसीमा नई नवला रस भेद न जानत, सेज गई जिय मांह डरी रस बात कही तब चौंक चली तब धाय…

मामी की बिमारी

राजबीर सांगवान हेल्लो दोस्तो, मेरा नाम राजवीर संगवान है, मेरी उम्र लगभग 28 साल है और मैं अपने आप को ज्य…

कुंवारी भोली–12

शगन कुमार दरवाज़े पर महेश और उसके साथियों को देख कर मैं घबरा गई। वे पहले कभी मेरे घर नहीं आय…