चाची की चुदाई करने की चाहत

मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ, इसमें प्रकाशित सभी किस्म की चुदाई की कहानी पढ़ना मुझे बेहद पसंद है। मैं यहाँ अपना नाम नहीं बताना चाहता.. आप सब मुझे लव बॉय कह सकते हो।

वैसे तो मैंने मेरी गर्लफ्रेंड के साथ कई बार सेक्स किया है.. उसको कई बार अलग-अलग आसनों में खूब चोदा है.. मगर जब से अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ने लगा हूँ, तब से मेरी चुदाई करने की चाहत और बढ़ गई।

मुझे अन्तर्वासना पर प्रकाशित हिंदी में चुदाई की कहानी में ज्यादातर रिश्तों में चुदाई की कहानी पढ़ना बहुत पसंद है। कई बार तो मैंने इन कहानियों को पढ़ कर मुठ भी मारी है।

मैं अक्सर अपनी चाची का नाम लेकर ही मुठ मारता हूँ। मुझे पहले तो अपनी चाची की चुदाई में कोई इंटरेस्ट नहीं था.. मगर जब से मैंने रिश्तों में सेक्स की कहानी पढ़ने लगा हूँ.. तब से मुझे चाची की चुदाई की चाहत हो गई है।

जब भी मेरी चाची मेरे सामने आती हैं तो मैं उन्हें ही देखता रहता हूँ। उनके चूचे ज्यादा बड़े तो नहीं है.. मगर एकदम तने हुए रहते हैं। उनकी बॉडी भी ज्यादा भारी भरकम नहीं है.. वो पतली हैं।

जब भी वो मेरे सामने आती हैं.. उनके तने हुए चूचे और उठी हुई गांड देखने में मुझे बहुत मजा आता है, मुझे उन्हें देख कर चाची की चुदाई को बहुत जी करता है। कभी-कभी तो ऐसा लगता है कि जब मेरे सामने वो खड़ी हों.. तो वहीं पर उनके कपड़े उतार कर उन्हें नंगी करके चोद डालूं.. मगर क्या करूँ अपने आप पर काबू रखना पड़ता है।

चाची की साइज़ तकरीबन 30-26-32 की होगी। उनका घर मेरे पड़ोस में ही है। उनके पति यानि मेरे चाचा इंडिया से बाहर विदेश में रहते हैं। चाचाजी 2-3 साल में एक बार ही इंडिया आ पाते हैं।

चाचा-चाची की एक लड़की भी है.. जो अभी छोटी है और वो स्कूल जाती है। वो सुबह 7 बजे से 2 बजे तक स्कूल में ही रहती है और इस वक्त मेरी चाची घर पर अकेली रहती हैं। जब चाची घर पर अकेली रहती हैं उसी वक्त पर मैं किसी ना किसी बहाने से कभी-कभी उनके घर जाता हूँ।

मुझे उनको देखने को दिल करता है। उनके काम करते समय हिलते हुए मम्मों को देखने की बड़ी तमन्ना रहती है.. साथ में गांड को मटकते हुए देखता हूँ तो मेरा लंड बगावत करने लगता है।

इस सबसे मुझे बड़ी उत्तेजना मिलती है और मैं उनके बाथरूम में ही चाची की जवानी को याद करके मुठ मार लेता हूँ।

एक बार वो घर में पानी से फर्श धो रही थीं और उस वक्त उन्होंने दुपट्टा नहीं लिया था। उस वक्त जो कुरता वो पहने हुई थीं, उसका गला कुछ ज्यादा ही बड़ा था। फिर जब वो झुकीं.

. तब मैंने पहली बार उनके मम्मों की भरपूर छटा देखी।

आआहह.. क्या मस्त आम थे.. दिल करने लगा कि अभी उनके मम्मों को चूस लूँ और पूरा दूध पी जाऊँ.. मगर अफ़सोस.. मैं ऐसा नहीं कर पाया।

मैं वापस अपने घर पर आकर बाथरूम में जाकर उनके नाम की मुठ मारने लगा। उस दिन मैंने 2 बार मुठ मारी.. तब मुझे शान्ति मिली।

अब मेरे मन में चाहत जोर पकड़ रही थी और मैं किसी भी तरह चाची की चुदाई करना चाहता था। इसलिए मुझे आप सब दोस्तों से मदद चाहिए कि मैं उन्हें कैसे चोदूं.. कोई ऐसा उपाय सुझाव.. जिससे वो भी मुझसे चुदने के लिए राज़ी हो जाएं और मुझसे खूब चुदवाएं। उनकी किन हरकतों से मुझे मालूम हो सकता है कि वो मेरे लंड से चुदवाना चाहती हैं।

प्लीज फ्रेंड्स आप इस विषय में जितना अधिक जानते हो.. मुझे उतना जरूर बताएं। बस मुझे एक बार उन्हें किसी भी हाल में चोदना है।

मैं आप सभी को ये भी बता दूँ कि 8 महीने पहले मेरे चाचा जी यहाँ थे और इसमें कोई शक़ नहीं है कि उन्होंने तब चाची को चोदा होगा.. मगर उनको वापस गए 8 महीने हो चुके हैं और मेरी चाची की चुदाई 8 महीनों से नहीं हुई है।

पता नहीं जब वो नहाती होंगी, तब अपनी चुत में उंगली डाल कर आपने आपको शांत करती होंगी।

अब आप ही कोई तरीका बताएं कि मैं उनको बिना गुस्सा किए कैसे मनाऊँ या कोई ऐसी तरकीब हो, जिससे वो खुद ही मुझसे अपनी चुत चुदवाने के लिए मान जाएं। चाची को चोदने के लिए मेरा 6 इंच लंबा और खासा मोटा लंड बेकरार है। मैं अपने इस लंड को अपनी चाची की चुत में डाल कर उनकी चुत को कैसे पेलूँ प्लीज दोस्तों आप मेरी इस अन्तर्वासना को शांत करने के लिए जो भी तरीका बताएंगे.. मैं उसे इस्तेमाल करने की कोशिश पूरी करूँगा।

मुझे चाची की चुदाई की कहानी लिखने के लिए बहुत जी करता है.. आपके सुझावों का इन्तजार है।

[email protected]

Comments:

No comments!

Please sign up or log in to post a comment!