Shaadi Shuda Didi Bani Meri Patni

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम अरुण है, मैं उत्तर प्रदेश का रहने बाला हूँ । मैं देसी कहानी का नियमित पाठक हूँ, और आज मैं आपको अपनी एक कहानी बताने जा रहा हूँ। जो मेरे साथ पिछले महीने एक घटना घटी थी। यह मेरी पहली कहानी है, यह कहानी मेरी और मेरी बड़ी बहन के बीच संबंध की है।

दोस्तों मेरे घर मे कुल 4 सदस्य है, मेरे पापा 50 साल, मेरी माँ 45 साल और मेरी बड़ी बहन स्नेहा 32 साल और मैं अरुण 28 साल। मेरी बहन की शादी हो गयी है, उसकी शादी को 8 साल हो चुके है, उनका एक 5 साल का बच्चा है, और वो जीजा जी के साथ इंदौर में रहती है।

दोस्तों मेरी बहन का फिगर 34 32 34 है, जो मुझे बाद में मालूम हुआ। अब कहानी पर आते है। जैसा कि मैने बताया मेरी बहन एक दम मस्त माल लगती है, और मैं 18 साल की उम्र से ही अपनी बहन को चोदना चाहता हूं।

ये हुआ यूं कि इस रक्षाबंधन पर मेरी बड़ी बहन स्नेहा रखी पर मेरे घर आई, और साथ मे मेरे जीजा जी भी आये हुए थे। लेकिन जीजा जी दीदी को घर छोड़कर चले गए। मैंने अपनी दीदी को देखा तो देखता ही रह गया, क्योंकि अब तो दीदी बहुत सेक्सी लगने लगी थी।

जैसा कि मैंने बताया कि मैं बचपन से ही अपनी बहन का दीवाना था । दोस्तो मैं एक बात बताना भूल गया, कि मेरी अभी तक शादी नही हुई है। और न ही मैं करना चाहता हूं, क्योंकि मैं जिस लड़की से प्यार करता था उसने मुझे धोखा दे दिया है।

ऐसी बजह से मै शादी नही करना चाहता। मेरे लंड का साइज 7 इंच मोटाई 3 इंच है, दीदी के आने से सब बहुत खुश थे। फिर रात में सब खाना खा रहे थे, तभी दीदी बोली- अरुण अब तो शादी कर ले ।

मैं – दीदी मुझे शादी नही करनी।

दीदी – तो क्या अकेले ही जिंदगी जियेगा, माँ पापा की उम्र अब बच्चों को खिलाने की है। कितने दिन और जियेंगे उनका भी सपना है अपनी बहू और नाती को देखने का।

मैं – दीदी मैंने कह दिया ना, कि मै कभी शादी नही करूँगा। (यह कहकर मैं उठकर अपने कमरे में चला गया)

तोड़ी देर बाद दीदी मेरे कमरे में आई और मेरे बेड पर बैठ गई और बोली- अरुण तू शादी क्यों नही करना चाहता चल बता मुझे?

मैं – दीदी आपको तो सब पता है, कि में जिस लड़की से प्यार करता था। उसने मुझे धोखा दे दिया है इसलिए मै अब किसी से भी शादी नही करूँगा।

दीदी – तो क्या उसके लिए, तू अपनी जिंदगी बर्बाद कर देगा।

मैं – दीदी मेने कह दिया ना मुझे शादी नही करनी बस।

दीदी – भाई तुझे मेरी कसम है, सच मे शादी नही करनी, या फिर तुझमे कोई कभी है।

मैं – दीदी मुझमे कोई कमी नही है चाहो तो आजम कर देख लो। (मैं जोश में आकर कह दिया क्योंकि मुझे शादी के लिए ज्यादा परेशान किया जा रहा था।)

दीदी मेरी बात सुनकर एकदम शांत हो गई। मैंने फिर कहा दीदी क्या हुआ अब क्यों शांत हो गई हो आप?

दीदी – भाई मुझे तुमसे यह उम्मीद नही थी।

मैं फिर बोला – दीदी मैंने क्या गलत कह दिया? मुझमे कोई कमी नही है आपको अगर लगता है कि मुझमे कमी है, तो आप मुझे आजम कर देख लो।

दीदी फिर शांत रही मैं फिर बोला – दीदी मैं एक शर्त पर शादी कर सकता हूँ। अगर आप मेरी शर्त मानो और किसी से कुछ नही कहोगी तो मै बोलू। (मैंने आप लोगो को बताया था, कि मैं अपनी बड़ी दीदी को चोदना चाहता था, इसलिए मैंने जानबूझकर यह सब कहा।)

दीदी – भाई अगर तुम शादी के लिए तैयार हो जाओ, तो मैं तुम्हारी हर शर्त मानने के लिए तैयार हूं।

मैं – दीदी आपको मेरी कसम खानी पड़ेगी।

दीदी – तुम्हारी कसम भाई मैं तुम्हारी हर शर्त मानने को तैयार हूं, और किसी को कुछ नही कहूंगी।

मैं – दीदी मुझे आपको चोद कर आपको अपने बच्चे की माँ बनाना है, अगर आप इस के लिए तैयार हो तो मैं शादी के लिए तैयार हूं बोलो?

दीदी – भाई तुम्हे पता भी है, तुम क्या कह रहे हो। मुझे तुमसे यह उम्मीद नही थी।

मैं – दीदी इसमे बुरा क्या है अभी आपने ही कहा है, कि आप मेरी हर शर्त मानोगी और इससे आपको भी पता चल जाएगा मुझमे कोई कमी है या नही।

दीदी – ऐसा नही हो सकता।

मैं – तो फिर मेरी शादी को भूल जयो।

दीदी – भाई तुम समझते क्यों नही मैं तुम्हारी बड़ी बहन हूँ। अगर माँ पापा और तुम्हारे जीजा को पता चलेगा तो क्या होगा ये सोचा है तुमने कभी?

मैं – दीदी इस कमरे में मेरे और तुम्हारे अलावा कोई नही है फिर कैसे पता चलेगा किसी और को?

दीदी कुछ देर शांत रही और फिर सोच कर बोली।

दीदी – भाई मुझमे इस क्या है, जो तू मेरे साथ यह सब करना चाहता है।

मैं – मैं क्या करना चाहता हूँ दीदी?

दीदी – वो ही जो तूने अभी कहा है मुझे।

मैं – क्या कहा है मैंने ऐसा आपको (और मैं धीरे धीरे खिसकर दीदी के बिल्कुल नजदीक पंहुच गया।)

दीदी – तुझे नही पता क्या कहा है तूने?

मैं दीदी की जाँघ पर हाथ फेरते हुए बोला- क्या समझू आप बता दो दीदी?

और मैं दीदी से बात करते हुए उनके जांघो को सहला रहा था।

दीदी – बच्चा पैदा करना तूने।

मैं – मतलब ( इतना बोल कर मैंने दीदी के दूध पर हाथ रख दिये, और हल्के हल्के दवाने लग गया)

दीदी सैयद गर्म होने लगी थी, इसलिए वो एक दम से बोली।

दीदी – मुझे चोद कर अपने बच्चे की माँ बनाना है तूने।

मैं – तो आप तैयार हो क्या मेरे बच्चे की माँ बनने के लिए?

दीदी – हाँ मैं तैयार हूं, लेकिन तुम्हे शादी करनी पड़ेगी।

मैं – दीदी मैं शादी तभी करूँगा, जब आप मेरे बच्चे की माँ बन जाएगी।

मैं – तो शुरू करूँ?

दीदी – क्या ?

मैं – आपको माँ बनाने का कार्यक्रम ?

दीदी – भाई अगर तू मुझे माँ बना देगा.

तो मै सब को क्या बोलूंगी?

मैं – दीदी पहले आप मुझे चोदने दो बाकी बाद में सोचेंगे इस बारे में।

दीदी – तो आ चोदना मुझे तुझे रोकाकिसने है? ( मेरी बातों से दीदी बहुत गर्म हो गई थी।)

मैं इतना सुनकर दीदी पर टूट पड़ा और उन्हें लिप् किस करने लगा। दीदी भी मेरा पूरा साथ दे रही थी, मेरी जीभ दीदी के मुहँ में थी।

जिसे दीदी चूस रही थी, मैं भी दीदी के होंठो को चूस रहा था,और एक हाथ से दीदी के बड़े बड़े दूध को मैं मसल रहा था।

करीब 15 20 मिनट बाद हमारे होंठ अगल हुए दीदी और मैं दोनो बहुत जोर से हांफ रहे थे।

Comments:

No comments!

Please sign up or log in to post a comment!