Oli Ki Zabardast Chudai Ki Kahani

दोस्तों, कैसे हैं आप सब आशा करता हूँ सब इस महामारी के दौर में कुशल होंगे। आप सबने मेरी पिछली कहानियाँ पसन्द की उसके लिए बहुत शुक्रिया। जैसा मैंने अपनी पिछली कहानी पूजा की चुदाई में आप को बताया था, कि वो कहानी लिखते वक़्त तक मैंने आठ औरतों से सेक्स किया है।

आज मैं आपके सामने अपनी तीसरी कहानी लेके आया हूँ, ये कहानी पिछले साल की है। पूजा की चुदाई और अपनी बीबी की चुदाई के बीच में मैंने जो चुदाई की हैं, वो कहानी मैं आने वाले समय मे आपके सामने पेश करूँगा।

जो लोग पहली बार मेरी कहानी पढ़ रहे हैं उन्हें बता दूँ मेरा नाम नीरज है। मैं दिल्ली में रहता हूँ और मैं शादीशुदा हूँ। तो ये जो कहानी है ये मेरी एक विदेशी महिला के साथ हुए सेक्स के बारे में है। मेरी उससे जो भी बातचीत हुई वो अंग्रेजी में हुई, मग़र कहानी में देशी लहज़ा रखते हुए मैं सब देशी में लिखूंगा ताकि आपको पूरा मजा मिले।

अब मैं कहानी पर आता हूँ , मेरी शादी 2014 में हुई थी। शादी के बाद मैंने सिर्फ अपनी वाइफ के साथ ही सेक्स किया। मेरी जॉब में मुझे कई बार शहर से बाहर जाना होता है, और कई बार 3-4 दिन तक होटल में रुकना पड़ता है। मैंने कभी भी किसी कॉल गर्ल के साथ सेक्स नहीं किया।

फिर 2019 में मैं एक टूर पर गया हुआ था, मैं होटल में बोर हो रहा था तो मैं मोबाइल में गेम खेलने लगा । गेम ओवर होने पर उसमें एक डेटिंग फ्रेंडशिप ऐप्प का ऐड आया। मैंने ऐसे ही वो ऐप्प डाऊनलोड की। फिर मैंने उस ऐप्प में अपना प्रोफाइल बना ली।

इस ऐप में आप फेक प्रोफाइल पिक्चर नहीं लगा सकते, तो मैंने अपनी ओरिजनल लगादी। फिर मैंने उसमे कुछ औरतों को मैसेज किया। उसमें फ्री मैसज की लिमिट थी। लेकिन कोई रिस्पांस नहीं आया।

उसके बाद मैं दिल्ली वापस आ गया, और ऐप्प के बारे में भूल गया। फिर कुछ हफ़्ते बाद मुझे एक मैसेज आया, मैने देखा एक अफ़्रीकन लड़की का मैसेज था। उसकी प्रोफाइल देख के तो मेरा लन्ड खड़ा हो गया।

फिर मैंने उसे रिप्लाई किया तो उसने सीधा मुझे अपना नंबर दे दिया बोला ये मेरा व्हाट्सएप नम्बर है। मैंने उसका नम्बर ऐड किया और उसे व्हाट्सप पर मैसज किया। वो ऑनलाइन थी उसका रिप्लाई आया। मैंने बोला हम मिल सकते हैं, उसका रिप्लाय आया – 5000 एक शॉट के।

मैं चौंक गया और मेरी समझ में आया कि ये कॉल गर्ल है, तो मैंने कोई रेस्पॉन्स नहीं दिया और उसका नंबर ब्लॉक कर कर दिया। पर मेरी आँखों के सामने उसका सेक्सी फिगर घूम रहा था। बिल्कुल पोर्न स्टार जैसा। फिर मैं उस ऐप्प में कोई रियल प्रोफाइल सर्च करने लगा ।

फिर लगभग 2 महीने बाद मुझे एक प्रोफइल दिखी। ब्लैक ब्यूटी थी एकदम, उसकी प्रोफाइल से पता चला कि वो अफ्रीकन दूतावास में जॉब करती है। मैंने सोचा कि चलो मैसेज करके देखता हूँ, पर उसको मैसेज किया – हाई हाऊ आर यू?

फिर एक दिन बाद उसका रिप्लाई आ गया। उसका नाम ओलिविया था। यहाँ पर मैं ओली सम्बोधित करूँगा।

ओली- हेल्लो मैं अच्छी हूँ, तुम कैसे हो।

मैं- मैं ठीक हूँ ,

फिर हमारी बातचीत होने लगी।

फिर एक दिन वो बोली – कल शनिवार है, कल मेरा हॉलिडे है । क्या हम कल मिल सकते हैं?

मैं – ज़रूर , कहाँ और कब?

ओली- कल शाम 4 बजे वसंत विहार कैफे एक्वा में।

मैं – ठीक है।

फिर मैं घर में काम का बहाना बनाके ठीक 4 बजे कैफ़े में पहुँच गया, ओली वहाँ पर पहले से इंतज़ार कर रही थी। उसे देख के तो मेरे होश ही उड़ गए, क्या लग रही थी। उसने हल्के हरे रंग की ड्रेस पहनी हुई थी, जो गले से लेके घुटनों के ऊपर तक एक ही थी।

साथ मे उसने मैचिंग इयररिंग्स और नेलपेंट लगाया था। होंठो में हल्के गुलाबी रंग की लिपस्टिक लगी थी। उसकी बैक खुली हुई थी जिससे पता चल रहा था, कि उसने ब्रा नहीं पहनी हुई थी।

उसकी गांड एक दम मस्त थी, बड़ी बड़ी, जैसे बड़े बड़े गोल तरबूज। उकसे बूबस दिख तो नहीं रहे थे, क्योंकि ड्रेस सामने से गले तक बंद थी। लेकिन ब्रा ना पहने होने और ड्रेस के टाइट होने से उसके गोल गोल बूबस अपनी पूरी हाज़िरी दे रहे थे। मेरा लन्ड तो जीन्स में टाइट होने लगा था।

मैं- हाई

ओली- हाई , कैफ़े लोकेट करने में कोई दिक्कत तो नहीं हुई?

मैं- नहीं गूगल मैप से इजी हो गया।

फिर हम बैठ गए और कॉफी आर्डर की। फिर हम इधर उधर की बात करने लगे और एक घण्टा हो गया। उससे बात से पता चला वो शादीशुदा है, उसका पति साउथ अफ्रीका में रहता है और वो भी दिसम्बर तक वापस चली जायेगी। और अभी ये जुलाई का महीना था।

मैं- तुम कैसे आई हो?

ओली- मैं पैदल आज एम्बेसी की कार नहीं है, मैं 10 मिनट की दूरी पर रहती हूँ।

मैं- चलो मैं तुम्हे ड्राप कर देता हूँ।

ओली- ठीक है।

फिर हम दोनों कार में बैठ गए, उसके परफ्यूम की महक मुझे दीवाना बना रही थी। मेरा लन्ड जीन्स के अंदर कड़क हो रहा था और शायद ओली ने इसे नोटिस कर लिया। फिर मैंने उसे स्माइल दी और कार स्टार्ट की फिर वो मुझे रास्ता बताने लगी। थोड़ी देर में ही हम उसके बिल्डिंग के सामने पहुँच गए।

इस बिल्डिंग में 4 फ्लोर थे, हर फ्लोर में अलग अलग फैमिली रहती थी। ये मुझे बाद में पता चला। फिर मैं बोला- तुम्हारा घर आ गया। ओली – हाँ, चलो मैं तुम्हे अपना घर दिखाऊँ।

मैं – ठीक है। फिर हम उसके फ्लैट में गए जो थर्ड फ्लोर पर था। दरवाजा खोलते ही एक बड़ा लिविंगरूम था, जिसमे बड़े ब्लैक कलर के लेदर के सोफे लगे थे। सामने एक ओपन किचन था जिसमे काउंटर भी था।

फिर ओली बोली – बैठो, तुम कुछ लोगे ?

मैं- नो इट्स ओके!

ओली- ठीक है, मैं पानी लाती हूँ।

मैं सोफे में बैठते हुए बोला, ठीक है।

जब वो किचेन की तरफ जा रही थी तब उसके बड़े बड़े तरबूज जैसे गांड बहुत मटक रही थी। उसे देख के मेरा लन्ड बहुत टाइट हो गया। मैं किसी तरह कंट्रोल कर रहा था, नहीं तो मन कर रहा था उसे पीछे से दबोच लूँ।उसका फिगर 34,28,36 था और हाइट 5’4″ थी।

इतने में वो पानी लेके आ गई, और सोफे में मेरे बगल में बैठ गई। वैसे मुझे लग रहा था कि उसके मन मे भी वही चल रहा है जो मेरे मन में। लेकिन मैंने पहल नहीं की, क्योंकि मैं अपनी जॉब में कई फॉरेनर्स से मिला हूँ वो बहुत ज्यादा फ्रेंडली होते हैं । इसलिये मैं पहल नहीं कर रहा था कि अगर मैं गलत हुआ तो।

ओली की नज़र मेरे टाइट लन्ड पर पड़ी,जो पैंट को फाड़कर बाहर निकलने को बेताब था। वो मुस्कुराते हुए बोली – ये तो हार्ड हो गया! और उसने एकदम अपना हाथ पैंट के ऊपर से लन्ड पर रख दिया।

ओली- तुम मेरे गेस्ट हो अब इसको शांत करना मेरा फ़र्ज़ है।

मैं- मग़र हम तो शादीशुदा हैं।

ओली- तो फिर तुम्हारा लन्ड क्यों खड़ा हो गया?

मैं- तुम इतनी ज्यादा सेक्सी और हॉट हो तो लन्ड तो खड़ा होगा ही।

ओली- चलो अब मुझे देखने दो इसे मैं भी देखूं ।

ये बोल के ओली ने मेरी टी शर्ट ऊपर की और मेरी बेल्ट खोलने लगी फिर उसने मेरी जीप खोली। फिर उसने अंडरवियर नीचे करके लन्ड को पकड़कर घुफ़ा से बाहर निकाला।

ओली- ये तो बहुत टाइट हो गया ये बोल के उसने अपनी जीभ मेरे लन्ड पर नीचे से ऊपर फिराई। उसके ऐसा करते ही मेरे लन्ड में सरसरी सी हुई। अभी मेरे अंडे पैंट के अंदर ही थे। उसने मेरी तरफ देखा मैं समझ गया, मैंने अपने कूल्हे उठाये उसने मेरी पैंट और अंडरवियर नीचे सरका दिये।

ओली फ्लोर पर घुटनों पर बैठ गई, और वो मेरे लन्ड को जड़ से सुपाड़े तक चाटने लगी। बीच बीच में वो मेरे अंडो को भी चाटती। मैं तो जैसे जन्नत में था।

फिर मैंने उसकी ड्रेस की डोरी जिससे वो गले में बंधा हुआ था, वो खोल दी ।जिससे उसकी ड्रेस मेरी जांघो में गिरी।

वो अभी भी मेरे लन्ड से खेल रही थी। जिससे उसके आजाद बूब्स मुझे दिख नहीं रहे थे। फिर उसने मेरी तरफ देखा और बोली- तुम बियर लोगे?

मैं- थैंक्स लेकिन मैं नहीं पी सकता, मुझे अभी घर भी जाना है। मैंने वाइफ से बोल के आया हूँ कि आफिस के काम से आया हूं।

(दोस्तों आपको बता दूँ मैं शराब नही पीता, लेकिन मैं अभी उसको ये बताना नहीं चाहता था। इसलिए मैंने उसे ऐसा बोल दिया)

ओली- ठीक है, लेकिन मैं तो पी सकती हूँ?

मैं- बिल्कुल।

फिर ओली खड़ी हुई,अब उसके नंगे बूब्स मेरे सामने आ गए। क्या मस्त बूब्स से, बिल्कुल तोता आम की तरह डार्क, परफेक्ट आकर में ढले थे। मैं देखता ही रह गया।

उसकी ड्रेस उसकी कमर से नीचे लटक रही थी।

वो वैसे ही गाँड़ को मटकाते हुई गई और एक बड़ा ग्लास बियर का लेके आई। फिर उसने एक घूँट लिया, और गिलास को मेज पर रख दिया।फिर वो उसी तरह बैठ गई और लन्ड को चूसने लगी।

फिर वो बोली जरा खड़े हो, मैंने उसे देखा फिर मैं खड़ा हो गया, मेरी पैंट और अंडरवियर नीचे गिरे। मैने दोनों को उतार कर साइड कर दिया। मेरा 6.

5″ का पूरा तना हुआ लंड उसके मुँह के सामने था। मैंने अपनी टी शर्ट भी उतार दी।

मुझे लगा उसे इस पोजीशन में आसानी होगी, इसलिए उसने मुझे खड़े होने के लिये कहा। मगर ओली के दिमाग मे कुछ और चल रहा था। उसने बियर का एक और घूँट लिया। फिर उसने मेरा लन्ड पकड़ा और ठंडी बियर के गिलास में डूबा दिया।

मैं चौंक गया। गर्म लन्ड ठंडी बीयर में अलग ही फीलिंग आ रही थी। उसने 30-40 सेकंड्स मेरा लन्ड गिलास में डुबाये रखा फिर उसे बाहर निकाल के चूसने लगती। फिर थोड़ी देर के बाद फिर गिलास में डुबाती बाहर निकालती। बियर का एक घूँट पीती और मेरा लन्ड चूसती।

मैं तो पागल हो रहा था इतना मज़ा आ रहा था कि बयान करना मुश्किल है। फिर लगभग 10 मिनट बाद मुझे लगा अब मैं झड़ने वाला हूँ। मैंने ओली के सिर को कस के पकड़ लिया। मैंने अपना लन्ड उसके गले तक घुसा दिया।

मैं- यस बेबी चूस मेरा लन्ड , अंदर तक ले मेरा लन्ड,

अभी तक वो मेरे लन्ड को चूस रही थी अब मैं उसके मुँह को चोदने लगा। मैं जोर जोर से अपने चूतड़ हिला रहा था, अभी भी मैंने उसका सिर पकड़ा हुआ था। कभी कभी उसका गला भी चौक हो रहा था पर वो भी पूरा मजा ले रही थी।

फिर अब मुझे लगा मेरा ज्वालामुखी फटने वाला है। मैं अपना लन्ड ओली के मुँह से बाहर निकालना चाहता था, पर ओली ने मुझे रोक लिया।

मेरे शरीर के तनाव से वो समझ गई थी कि मैं झड़ने वाला हूँ। उसने मेरे चूतड़ कस के पकड़ लिए। फिर एक सैलाब आया जो ओली की गले की गहराई में उतर गया। उसके बाद वो एक मिनट तक मेरा लन्ड चाट चाट के साफ करती रही। फिर उसने बची हुई बियर को एक ही झटके में पी लिया।

उसने मेरे लन्ड को इतनी अच्छी तरह से चाट के साफ किया जिससे पता ही नहीं चल रहा था लन्ड अभी झड़ा है। मैं सोफे में बैठ गया। वो भी मेरे बगल में आकर बैठ गई। मैं बोला – सॉरी मैं तुम्हारे मुँह में झड़ गया।

ओली- अरे मुझे तो लन्ड का माल पीने में बहुत मज़ा आता है, और ये हेल्थी भी होता है।मैंने आज पहली बार इंडियन माल चखा है।

दोस्तो ओली दूसरी औरत थी जिसने मेरा माल पिया। वरना बाकी कोई भी माल पीने के लिए तैयार नही हुई।

अब ओली के आँखों में बियर का नशा और सेक्स की भूख साफ दिखाई दे रही थी। मैं ओली की तरफ बड़ा और उसके होंठो को चुमने लगा। ओली ने अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी और मैं उसकी जीभ चूसने लगा कभी वो मेरी जीभ चूसती। मैं उसके बूब्स भी दबा रहा था। फिर मैं उसकी गर्दन को चुमने लगा। उसका बदन इतना चिकना था जैसे उसने आज ही पूरे शरीर की वैक्स करवाई ही।

अब मैं उसके बूब्स पर टूट पड़ा, और उन्हें एक एक करके चूसने लगा। मेरा एक हाथ उसकी पैंटी के ऊपर उसकी गीली चूत को टटोल रहा था।

फिर मैंने उसकी गाँड़ को उठाकर उसकी ड्रेस को उतार दिया । अब उसके चिकने बदन पर एक नाम मात्र का कपड़ा था जिसे पैंटी बोलते हैं।मैंने उसकी पैंटी भी उतार दी।

अब उसकी चूत मेरे सामने थी, उसकी चूत में एक भी बाल ना था। लगता था उसने आज पूरी चुदाई के लिए खुद को तैयार किया हुआ था। ओली की चूत ब्रेड के पाव की तरह हल्की फूली हुई थी। मेरा लन्ड भी फिर से खड़ा होकर चूत को सलामी दे रहा था।

मैंने उसकी टाँगों को खोलकर चौड़ा कर दिया, जिससे उसकी चूत खुल के मेरे सामने आ गई। उसके बदन के परफ्यूम की मादक खुशबू और उसकी चूत से टपकते काम रस की महक मुझे दीवाना बना रही थी। मैंने देर ना करते हुए अपनी जीभ उसकी चूत पर फिराने लगा। ओली के मुँह से मादक सिसकियां निकलने लगी।

ओली- यस चाटो मेरी चूत को बेबी। अपनी जीभ को अंदर डालो, मेरी चूत का पानी चाट।

मैंने हाथों से उसकी चूत खोली,फिर उसकी चूत के दाने को मैं जीभ से चाटने और चूसने लगा। अब ओली ने मेरा सिर पकड़ लिया

ओली- वो नीरज तुम मुझे पागल कर रहे हो। ओह यस यस। मुझे तुम्हारा लन्ड चाहिए, मुझे लंड चूसना है।

अब मैं सोफे में लेट गया, ओली अब 69 की पोजीशन में आ गई। वो मेरा लन्ड चूसने लगी और मैं उसकी चूत। फिर 5 मिनट बाद.
.

ओली- अब मुझे चूत में लन्ड लेना है, मझसे अब बर्दास्त नहीं होता।आओ मुझे चोदो। फ़क मी।

वो टाँगे खोल के लेट गई, मैं उसके ऊपर आ गया। मैंने अपना गिला लन्ड उसकी चूत के मुँह में रखा,और एक झटके में मैंने अपना लन्ड उसकी चूत में पल दिया।

ओली –ओह यस बेबी, फ़क मी हार्ड। फाड़ दो मेरी चूत।

मैं- यस ओली तेरी चूत एक दम मस्त टाइट है। इसका मैं ठोक ठोक के भरता बनाऊँगा।

मैं धक्के मारने लगा, मैं ओली की मदमस्त जवानी का पूरा मज़ा लेना चाहता था। फिर मैं प्ले पॉज टेक्निक से उसे चोदने लगा।

फिर हमने पोजीशन चेंज करी, वो अब उल्टी लेट गई, उसने अपनी गाँड़ ऊपर उठाई। अब मैंने फिर उसकी चूत में लन्ड पेल दिया। फिर मैं उसे कभी तेज कभी धीरे चोदने लगा।

ओली- नीरज तुम अमेज़िंग हो, यस बेबी निचोङ दो मुझे। यस

मैं- यस आज तू इंडियन लन्ड का स्वाद चख। तेरी चूत का कचमुर ना बनाया तो मेरा नाम नीरज नहीं। मेरी नज़र उसकी गाँड़ के छेद पर गया। वैसे मैं गाँड़ नही मारता, पर उसकी गाँड़ एक दम मस्त थी। मैन अपनी एक उंगली उसकी गाँड़ में डाल दी और अंदर बाहर करने लगा। ओली जोर जोर से ओह आह करने लगी।

ओली- ओह गॉड इट्स अमेज़िंग या या फ़क मी।

फिर कुछ देर बाद मैं सोफे पर बैठ गया, अब वो मेरे लन्ड पर बैठ गई। उसकी पीठ मेरी तरफ थी। अब सब उसके हाथ मे थाम वो जोर जोर से उछलने लगी मैंने उसके बूब्स को दबोच लिया।

ओली जोर जोर से उछलते हुए- या कॉमन या।

रूम में ओली, मेरी आवाज और पच पच की आवाज गूँज रही थी। और फिर वो समय आया जब मेरा माल निकलने को तैयार था। ओली- आह बेबी आई एम कमिंग!

मैं- यस मुझे भी होने वाला है यस!

मैं उसके बूब्स ज़ोर ज़ोर से मसलने लगा वो पीछे मुड़ के मेरे होंठ चूसने लगी। और जोर जोर से उछलने लगी। फिर हम दोनों एक साथ झड़ गए मेरे लन्ड का माल उसके चूत के माल से घुल मिल गया, और वापस को बहने लगा, ac रूम में भी हमें पसीना आ गया।

ओली कुछ देर मेरे लन्ड पर बैठी रही और हम दोनो एक दूसरे को किस कर रहे थे।

ओली- तुम्हे पता है, मैं दो बार झड़ी। बहुत मज़ा आया।

मैं- सच में, मुझे तो पता नहीं चला।

ओली- मैं शॉवर लेने जा रही हूँ, तुम जॉइन करोगे मुझे?

मैं- अरे ये कोई पूछने वाली बात है, चलो।

फिर हम दोनों बाथरूम में चले गए। हम दोनों नंगे तो पहले से ही थे।ओली ने शॉवर ऑन किया अब हम दोनों के गर्म बदन ठंडे पानी की बौछारों के नीचे थे। हम फिर से एक दूसरे को किस करने लगे।

उसके बाद ओली ने बॉडी शैम्पू निकला और स्पॉन्ज में लेकर मेरे बदन पर रगड़ने लगी। फिर मैंने उसके बदन में लगाया।

फिर वो हाथों से मेरे बदन को रगड़ने लगी, रगड़ते रगड़ते वो मेरे लन्ड तक पहुंच गई। वो मेरे लन्ड पर शैम्पू का झाग बनाने लगी, और मुठ बनाकर ऊपर नीचे करनी लगी। मेरा लन्ड फिर से खड़ा होने लगा। मैंने भी उसके बदन मे अच्छे से बॉडी शैम्पू लगाया।

फिर हम शॉवर के नीचे आ गये। मैं ओली के पीछे खड़ा था, मैने उसकी गाँड़ में उंगली डालते हुए उसके कान में कहा- मैं तेरी गाँड़ मारना चाहता हूँ

ओली- मैं भी यही चाहती हूँ कि तेरा लन्ड अब मेरी गाँड़ फाड़े। बल्कि मैं दोनों छेदों में चुदना चाहती हूं।

मैं- दोनों छेदों में, पर एक साथ कैसे?

वो मेरे तरफ पलटकर मेरी आँखों मे आँखे डालकर बोली – बस अभी देखो डार्लिंग, पहले ठीक से शॉवर ले लो।

फिर हमने शॉवर लिया और टॉवल से एक दूसरे को पोछा। फिर हम दोनों बैडरूम में आ गए। ओली ने ड्रावर से एक डिडलो निकाला जो बैटरी से चलने वाला था।

मैं समझ गया, मैंने पहली बार रियल में डिडलो देखा था। लगभग 7” लम्बा, 2.
5” मोटा होगा। ओली ने एक जैल की बोतल निकाली, उसने फिर से एक बार मेरा लन्ड चूसा ताकि वो पूरा टाइट हो जाये।

फिर उसने मेरे लन्ड और डिडलो पर चिकना जैल लगाया। फिर वो घोड़ी बनते हुए बोली- ये लो जैल इसे मेरी गाँड़ के छेद में लगा दो।

मैने शीशी ली और अपनी एक उँगली में जैल लेके उसकी गाँड़ के छेद में डाल कर अच्छे से जेल लगा दिया। फिर मैंने उसकी चूत को चाटा और 2-3 बार अपनी जीभ को उसकी चूत के अंदर बाहर किया।

उसके बाद डिडलो को उसकी चूत में पूरा गुस्सा दिया वो आह आह करने लगी। अभी मैंने डिडलो का वाइब्रेटर मोड ऑन नहीं किया था, अभी मैं घुटनो के बल था। मैं खड़ा हुआ और फिर टाँगों को थोड़ा झुकाकर मैंने अपने लन्ड को उसकी मस्त गाँड़ के छेद पर सेट किया।

मैं- ओली रेडी है तू मैं अब लन्ड तेरे छेद में घुसा रहा हूँ।

ओली- यस डार्लिंग, आई एम रेडी। पेल दे अपना लन्ड।

फिर मैंने अपना लन्ड उसकी गाँड़ के छेद में डाल, उसकी गाँड़ बहुत टाइट थी। 2” लन्ड घुसते ही वो चीखने लगी- ओह गॉड मैं मर जाऊँगी, उसके इतने बोलने तक मैं एक इंच लन्ड और अंदर डाल चुका था। मुझे ऐसा महसूस हो रहा था जैसे किसीने मेरा लन्ड जकड़ लिया हो।

ओली- आह अब एक बार मे पूरा डाल दो।

और मैंने पूरे झटके से लन्ड अंदर डाल दिया। ओली की बॉडी में सिहरन सी हो गई।

मैंने डिडलो का वाइब्रेटर भी ऑन कर दिया। मैं लन्ड अंदर बाहर करने लगा। दोस्तों मस्त लग रहा था, लेकिन इस पोजीशन में मुझे धक्के मारने में थोड़ी परेशानी हो रही थी।

मैं- ओली क्या हम पोजीशन चेंज करें?

ओली – ओके बेबी, तू नीचे लेट जा।

मैं नीचे लेट गया। वो मेरी तरफ पीठ करके मेरे लन्ड पर बैठ गई। मेरा लन्ड एक ही झटके में उसके गाँड़ के छेद में गुम हो गया। ओली की भी कामुक सिसकी निकल गई,ओली ने खुद डिडलो अपनी चूत में डाल दिया और वाइब्रेटर ऑन कर दिया।

उसने एक हाथ बेड पर टिका दिया, और एक हाथ से डिडलो से अपनी चुदाई करने लगी। मैं नीचे से अपनी गाँड़ उछाल उछाल कर उसकी गाँड़ को चोद रहा था। वो भी ऊपर नीचे हो रही थी। मैंने दोनों हाथों से उसकी कमर पकड़ी हुई थी।और उसको ऊपर नीचे होने में मदद कर रहा था।

मैं- ओह ओली यू आर अमेज़िंग। बहुत मज़ा आ रहा है।

ओली- हाँ बेबी, मुझे स्वर्ग की अनुभूति हो रही है, फाड़ दो मेरी गाँड़। यस फाड़ दो मेरी गाँड़। (वो डिडलो को और जोर से अंदर बाहर करने लगी।)

कुछ देर में उसकी बॉडी झटके देनी लगी और उसका काम रस निकल गया। मैंने भी उसे जोर जोर से उछाला अब मेरा भी लावा उसकी गाँड़ में निकलने के चरम पर था। ओह ओली ये ले मेरा माल ये ले और मेरा गर्म माल ओली की गर्म गाँड़ में समा गया।

वक़्त जैसे रुक गया। कमरे में वाइब्रेटर और हमारी साँसो की आवाज गूंज रही थी।

थोड़ी देर बाद ओली- आज यहीं रुक जाओ। पूरी रात मज़ा करेंगे।

मैं- मगर मैं रुक नहीं सकता ,फैमिली वेट कर रही होगी।

ओली- अरे कोई बहाना बना लो, फिर ये मौका मिले या न मिले।

मैं- ठीक है मैं कोशिश करता हूँ।

मैंने वाइफ को फोन किया और बोला मेरा कोई दोस्त आया है एक कॉमन फ्रेंड के यहाँ तो मैं आज वहीं रुकूँगा।

फिर हमने खाना आर्डर किया। उसके बाद हम सुबह 2-3 बजे तक अलग अलग तरीके से चुदाई करते रहे और कब एक दूसरे के ऊपर सो गए, पता ही ना चला।

सुबह जब मैं उठा 9 बज चुके थे ओली बिस्तर पर नहीं थी। बाथरूम से आवाज आ रही थी,फिर वो बाथरूम से बाहर आई।

ओली- गुड मॉर्निंग।

मैं- गुड मॉर्निंग। ये मेरी लाइफ का सबसे अमेज़िंग अनुभव था।

ओली- यस बहुत मज़ेदार।

ये बोल के वो मेरे लन्ड को सहलाने लगी। और फिर उसने चूस के लन्ड को कड़क कर दिया। अब वो ऊपर आ गई और चूत में मेरा लन्ड डाल दिया, अब वो एक बार फिर उछलने लगी। उसके तराशे हुए बूब्स उछल रहे थे।

इस तरह हम एक बार फिर दूसरे में समा गए.
.

दोस्तों ये मेरी लाइफ के चुदाई के अनुभवों में से एक बेहतर अनुभव था। मुझे उम्मीद है आप इस कहानी को पढ़ते पढ़ते झड़ गए होंगे। आप को कहानी कैसी लगी ज़रूर बताएं, कोई सुझाव हो तो वो भी बता सकते हैं। जल्द ही फिर मिलंगे!

[email protected]

Comments:

No comments!

Please sign up or log in to post a comment!