कैमरे से कमरे तक

प्रेषक : राज कुमार

मेरा नाम राज है, दिल्ली का रहने वाला हूँ, उम्र 24 साल है…

यह मेरी पहली सच्ची कहानी है, मैं अन्तर्वासना की कहानियाँ बहुत सालों से पढ़ रहा हूँ। मैं सभी अन्तर्वासना से जुड़े लोगों का धन्यवाद करना चाहता हूँ और क्षमा चाहता हूँ अगर मेरी कहानी में कोई त्रुटि हो गई हो तो…

यह बात उन दिनो की है जब मैं अपनी स्नातक की पढ़ाई कर रहा था नोएडा के एक नामी कॉलेज से… वैसे तो मैं एक साधारण सा दिखने वाला लड़का हूँ… मैं अक्सर अपना खाली टाइम एक वेब साइट ***.कॉम पर बिताता था, यह एक फ्री और ओपन साइट है.. यहाँ पर लड़के लड़कियाँ जो चाहें कर सकते हैं… वहाँ पर एक दिन मेरी किस्मत चमकी, मुझे मेरठ की एक लड़की मिली। शुरू में तो उसने अपना नाम ग़लत बताया और बातें शुरू हो गई।

इधर उधर की सामान्य बातों के बाद मैंने उसको देखने की इच्छा जाहिर की… मैंने उसे वेब कैमरा चालू करने को कहा…

बहुत कहने पर उसने ऐसा किया उसको देख कर तो मेरा लंड पजामे से बाहर आने को तड़प उठा… उसने पीले रंग का टॉप और नीचे लाल रंग का शॉर्ट पहना हुआ था… उसकी गोरी टाँगें मुझे दिख रही थी दूध की तरह सफेद… उसके गहरे गले के टॉप से उसकी चूचियों की लकीर दिख रही थी, मैंने तो उसको मन में ही नंगा कर दिया था… उसके स्तन ऐसे थे कि लग रहा था कि अभी टी-शर्ट फाड़ कर बाहर आ जाएँगे।

मैंने उसकी तारीफ करनी शुरू कर दी और लड़की को चाहिए भी क्या… वो खुश हो गई, उसने मेरा शुक्रिया अदा किया।

मैंने उससे उसके बॉयफ़्रेण्ड के बारे में पूछा तो बोली कि उनका ब्रेकअप हो गया है !

फिर बातें सेक्स की तरफ जाने लगी तो उसने बताया कि उसने एक बार सेक्स किया है अपने बॉयफ़्रेण्ड के साथ…

मैंने पूछा- कैसा लगा था…?

उसने कहा- बहुत दर्द हुआ था…

मैंने कहा- पहली बार में तो ऐसा होता ही है…

फिर मैंने उसको सेक्स की बातों में घुसा दिया… वो थोड़ी गरम होने लगी…

मैंने उसे कहा- अगर आपको कोई समस्या ना हो तो क्या मैं आपके चुचे देख सकता हूँ…?

उसने पहले तो मना किया, पर फिर मान गई और उसने अपनी टॉप उतार दी…

और मेरा तो मुँह तो खुला का खुला ही रह गया… इतने बड़े रसीले उरोज मैंने ब्लू फ़िल्म में भी नहीं देखे थे… मैंने उनकी तारीफ कर दी… वो और गर्म हो गई…

फिर उसने कहा- तुमने मेरा टॉप उतरवा लिया अपना भी तो उतारो…

मैंने भी अपना टॉप उतार दिया तो मेरी क्लीन शेव छाती देखकर वो अपने चुच्चे दबाने लगी।

फिर उसने मुझे मेरा पाजामा खोलने को कहा।

मैंने कहा- ऐसे नहीं ! आप भी अपना शॉर्ट उतारो !

वो इसके लिए भी तैयार हो गई और उसने अपना शॉर्ट उतारा, उसने काले रंग की पेंटी पहनी थी… क्या माल लग रही थी वो… उसकी पेंटी गीली हो चुकी थी… मुझे पता लग रहा था…

फिर मैंने अपना पजामा उतारा, अब तो वो अपने दोनो हाथों से अपने चूचों को मसल रही थी।

फिर मैंने उसके कहे बिना ही अपना नेकर उतार दिया और मेरा छः इंच का लंड बाहर आ गया।

उसको देखकर वो कहने लगी- यह तो मेरे बॉयफ़्रेण्ड के से बड़ा और जूसी दिख रहा है…!!

मैंने कहा- तो जान मेरी, चूस लो इसको…

वो मुझे कैमरे पर ही चुम्मियाँ देने लगी।

मेरा भी खड़ा था… उसने अपनी पेंटी उतारी और चूत दिखाई… क्या गोरी गोरी थी… मैंने पहली बार किसी भारतीय लड़की की चूत गोरी देखी थी।

मैंने उसको उंगली डालने को कहा।

वो पहले तो डर रही थी पर फिर धीरे धीरे डालने लगी… उसको मज़ा आ रहा था और मुझे भी…

फिर उसको मैंने चूतड़, गाण्ड दिखाने को कहा।

उसने दिखाई… बिल्कुल किसी मॉडल की तरह थी उसकी…

जब उसका अपनी गाण्ड का छेद अपने हाथों से अपने चूतड़ चौड़े करके दिखाया… तो मेरा लण्ड फटने को हो गया।मैं लगातार हिला भी रहा था… अब उसने एक तेल की बोतल उठाई और अपनी चूचियों पर तेल लगाने लगी… फिर चूतड़ों पर तेल लगाया… उसका शरीर चमक मार रहा था… चूत पर तेल लगाने के बाद वो उंगली कर रही थी… फिर उसने एक कृत्रिम लंड यानि डिल्डो निकाला और उसको अपनी चूत में अंदर-बाहर करने लगी… वो अब अपने होश में नहीं थी।

एक हाथ से वो अपने चुचे मसल रही थी और दूसरे हाथ से नीचे लंड चला रही थी…

फिर उसने कहा- राज, मुझे तुम्हारी गाण्ड चाटनी है !

मैंने उसको अपने चूतड़ दिखाए… और वो जीभ निकाल कर जैसे वेबकेम ही चाटने लगी…

मैंने उसको अपना छेद दिखाया… और वो जैसे उस नकली लंड को उसमें डालने लगी…

कुछ देर में वो झड़ गई और हाँफने लगी… फिर मेरा भी निकल गया…

उसने कहा- मुझे आज तक इतना मज़ा नहीं आया जितना आज आया है…

मैंने उसका नंबर लिया और फोन करने को कहा, फिर हमारी फोन पर बातें होने लगी…

फिर एक दिन मैंने उसको सच में चोदा… वो कहानी बाद में ! अभी के लिए बस इतना ही…

आपको कहानी कैसी लगी, आप मुझे मेल करके बता सकते हैं।

[email protected]

प्रकाशित : 02 अगस्त 2013

Comments:

No comments!

Please sign up or log in to post a comment!