सर्दियों में छुट्टियाँ

एक युवा जोड़ा अपनी छुट्टियाँ मनाने एक हिल स्टेशन पर गया।

जब वे वहाँ पहुँचे तो वहाँ बहुत ठण्ड थी, लड़का कुछ लकड़ियाँ इकट्ठी करने लगा और लड़की ने गरम कपड़ों से अपने आप को ढक लिया।

थोड़ी देर बाद लड़का आया और लड़की से कहने लगा- जानू, मेरे हाथ तो बिल्कुल ठण्डे हो गए हैं।

लड़की ने कहा- इन्हें मेरी टांगों के बीच में डाल दो, गर्म हो जाएँगे !

बाद में उन्होंने लंच किया और वह फिर से लकड़ियाँ इकट्ठी करने चला गया, थोड़ी देर बाद आया तो फिर से कहने लगा- जानू ! मेरे हाथ ठंडे हो गए हैं।

लड़की ने फिर कहा- मेरी टांगों के बीच में डाल दो, गर्म हो जायेंगे।

उसने डाल दिए और जब हाथ गर्म हो गए तब बाहर निकाल दिए !

रात को डिनर के बाद वह फिर लकड़ियाँ इकट्ठी करने लगा जब वह वापिस आया तो हाथों को रगड़ता हुआ आया और कहने लगा- जानू बहुत ठण्ड लगी है ! मेरे हाथ बहुत ठंडे हो गए हैं !

लड़की ने उसकी ओर देखा ओर जोर से चिल्ला कर कहने लगी- क्या तुम्हारे कान कभी ठंडे नहीं होते !

Comments:

No comments!

Please sign up or log in to post a comment!