बुआ का कृत्रिम लिंग-2

लेखक : विवेक सहयोगी : तृष्णा

बुआ का कृत्रिम लिंग-1

बृहस्पतिवार शाम को जब मम्मी और पापा घर आये तो उन्होंने बताया कि उनकी कंपनी की ओर से एक समूह अगले तीन दिनों के लिए मनाली की यात्रा पर जा रहा है और उस यात्रा में घर का हर सदस्य उनके साथ जा सकता है। उन्होंने यह भी अवगत कराया कि उसी रात दस बजे कंपनी की वाहन हमें लेने के लिए आ रही है।

उनकी यह बात सुन कर बुआ ने छूटते ही बुटीक की वजह बता कर मनाली जाने से मना कर दिया। बुआ की बात सुन कर मैंने भी कह दिया कि घर और बुटीक में बुआ अकेली रह जायगी इसलिए मैं भी नहीं जाऊँगा।

हमारी यह बात सुन कर पापा और मम्मी ने हम दोनों को यहीं छोड़ कर जाने का निर्णय लिया तथा सिर्फ अपने दोनों के जाने के कार्यक्रम को अंतिम रूप दे कर तैयारी कर ली।

मैं मन ही मन बहुत खुश था क्योंकि मेरे नहीं जाने के पीछे कारण था कि मैं कोई अच्छी सी योजना बना कर बुआ की खुजली मिटाऊँ! मुझे पूरा विश्वास था की मम्मी व पापा की अनुपस्थिति में यह काम बिना किसी डर, घबराहट और कठिनाई के तथा अधिक सरलता एवं शीघ्रता से हो सकता था और इसमें मुझे बुआ का पूरा सहयोग मिलने की आशा भी थी।

रात दस बजे मम्मी और पापा के चले जाने के बाद मैं तथा बुआ अपने अपने कमरे में जाकर सो गए। अगले दिन शुक्रवार को सुबह आठ बजे जब मैं उठा तब मुझे बुआ के बाथरूम में से पानी के चलने की ध्वनि सुनाई दी। मैं समझ गया कि बुआ स्नान कर रहीं होगी इसलिए मैं तुरंत उठ कर उनके कमरे में गया।

वहाँ देखा कि बुआ के बाथरूम का दरवाज़ा थोड़ा सा खुला हुआ था और अन्दर वह साबुन मल मल कर स्नान कर रही थी। तभी मेरे मस्तिष्क में एक योजना का जन्म हुआ और अपने को रोक नहीं सका तथा भाग कर अपने कमरे में से अपना चलचित्र कैमरा ले आया!

फिर थोड़ा ओट में होकर मैंने उस हसीं नज़ारे की विडियो रिकॉर्डिंग बना ली। क्या नज़ारा था, बुआ के गोरे रंग के चिकने बदन पर पानी फिसल रहा था, उनके गोरे गोरे उठे हुए स्तन रोशनी में चमक रहे थे तथा स्तनों के ऊपर गहरी भूरी रंग की चुचुक तो नज़रबट्टू की तरह बहुत ही सुंदर लग रही थीं!

उनकी योनि के कुछ बाल तो पानी से गीले होकर उनके बदन से चिपक गए थे लेकिन जो कुछ बाल खड़े हुए थे उन पर से पानी बह कर एक झरने की तरह नीचे गिर रहा था।

उसके बाद मैंने अपने कमरे में जा कर उस रिकॉर्डिंग को अपने कम्पूटर में डाउनलोड कर लिया और उस रिकॉर्डिंग को कैमरे में से मिटा दिया।

बुआ ने नहा धोकर नाश्ता किया और बुटीक चली गई पर मैं घर पर ही बैठ कर अपने कम्पूटर पर उनकी सुबह वाली रिकॉर्डिंग को देखता रहा और फिर नहाते हुए उनके नाम ले कर हस्तमैथुन भी किया। रोज की तरह उस दिन भी लगभग ग्यारह बजे के बाद बुआ ऊपर आई और अपने कमरे में नग्न हो कर योनि में डिल्डो डाल कर हिलाने लगी!

मैं इसके लिए पहले से तैयार था इसलिए अपना कैमरा लेकर उनके कमरे में दरवाज़े की ओट से खड़े होकर उनकी पूरी वीडियो रिकॉर्डिंग बना ली। जब बुआ अपने आप को संतुष्ट करने के बाद वापिस बुटिक में चली गई तब मैंने उस रिकॉर्डिंग को भी कम्पूटर में लोड कर के कैमरे में से मिटा दी।

उसके बाद मैंने बुआ और परिवार की कुछ दिनों पुरानी पिकनिक की, आउटिंग की तथा जन्मदिन पार्टी की वीडियो तथा आज की रिकार्ड करी हुई दोनों विडियो को मिला कर एक क्रम से संयोजित कर के वीडियो बनाई और उसे देखने लगा! वह संयोजित वीडियो बहुत ही बढ़िया बनी थी और उसमें हर स्थिति में बुआ के अंग और चेहरे का हर भाव बिल्कुल साफ़ नज़र आ रहे थे।

मुझे पूरा विशवास होने लगा था कि उनकी योनि और उसके अंदर डला हुआ डिल्डो का नज़ारा देख कर के तो अच्छों अच्छों के लिंगों में जान आ जाएगी और वे झंडे के डंडे की तरह खड़े रह जाएँगे!

इसके बाद मैंने एक बार फिर बुआ का नाम लेकर हस्तमैथुन किया और आगे की योजना क्रियान्वित करने के बारे में सोचने लगा!

रात आठ बजे बुआ बुटीक को बंद करके ऊपर घर आई तो मैं अपनी बनाई हुई योजना के अनुसार तैयार था! जैसे ही वह अपने कमरे में गई, मैं भी अपने कैमरे को प्रारंभ कर के चुपके से उनके कमरे में चला गया!

उस समय तक बुआ सिर्फ अपनी साड़ी ही उतार चुकी थी और उन्होंने मेरे सामने ही अपना बलाउज़, पेटीकोट तथा ब्रा उतारी! मेरा कैमरा चालू होने के कारण वे सारे दृश्य उसमें रिकॉर्ड हो गए थे। जब बुआ अपनी पेंटी को उतारने के लिए उसे नीचे सरका कर खड़ी हुई तब उनकी नज़र मुझ पर पड़ी तो वह हड़बड़ा गईं और भाग कर अपनी साड़ी को उठा कर अपने बदन पर लपेट लिया।

फिर मुझे बहुत जोर से डांटा तथा डांटते हुए पूछा कि मैं यह क्या कर रहा हूँ। तब मैंने बुआ से कह दिया कि मैं उनकी एक वीडियो बना रहा था!

तब उन्होंने मेरे कान उमेठते हुए कहा कि क्या कोई ऐसी वीडियो भी बनाता है? तो मैंने उनको बता दिया कि मैंने उनकी कुछ दूसरी वीडियो भी बनाई थी। लेकिन उस वीडियो की शृंखला में इस तरह की वीडियो की कमी लग रही थी इसलिए मैंने इसे भी रिकॉर्ड कर के उनको भेंट में देने के लिए उस शृंखला को पूरा कर दिया है।

भौंचक्की बुआ ने अपने गुस्से को काबू में करते हुए मुझे ‘कैसी विडियो बनाई है’ तुरंत दिखाने के लिए कहा।

मैंने बुआ से कहा कि वह जब तक खाना बनाती है, तब तक मैं वे सब वीडियो को एक पेन ड्राइव में इकट्ठा कर के डाल दूंगा और वह उन्हें हाल में लगे बड़े एल ई डी टीवी पर दिखा दूँगा!

फिर मैं अपने कम्पयूटर में दिन में बनाये संयोजित विडियो में आखरी रिकॉर्डिंग को भी उचित स्थान पर डाउनलोड करके उसे पेन ड्राइव में लोड कर लिया और उसे जेब में रख ली!

खाना खाकर मैंने बर्तन और रसोई समेटने में बुआ की पूरी मदद की और फिर हम दोनों बड़े हाल में आकर बैठ गए। मैंने पेन ड्राइव को एल ई डी टीवी में लगा कर वीडियो को चालू कर दिया। जब तक तो बुआ के पुराने पिकनिक के, आउटिंग के और बर्थडे पार्टी के वीडियो चलते रहे तब तक तो बुआ के चेहरे पर संतोष दिखाई देता रहा लेकिन जब उनके कपड़े उतारने वाला वीडियो सामने आया तो वह थोड़ी सावधान हो कर देखने लगी और जब उन्होंने अपने नहाने वाला वीडियो देख कर तो हैरान परेशान हो कर मुझसे पूछा कि यह कब बनाया?

लेकिन मैंने कोई भी उत्तर नहीं दिया। इसके बाद जब उन्होंने डिल्डो वाला वीडियो देखा तो पहले तो चेहरा गुस्से से भर गया और वीडियो के अंत होने पर शर्म से लाल हो गया!

वीडियो खत्म होने के बाद बुआ उठी तथा मेरे पास आकर बैठ गई और बड़े प्यार से मुझसे पूछने लगी कि आख़री के दोनों वीडियो मैंने कब बनाये।

तब मैंने बिना कुछ छिपाए उन्हें सब सच सच बता दिया! तब उन्होंने प्यार से मेरे गालों को चूमा और मुझसे वादा माँगा कि मैं उस डिल्डो वाले वीडियो का जिक्र भी किसी से नहीं करूँगा और न ही किसी को दिखाऊँगा!

मैंने वह पेन ड्राइव उनके हाथ में रखते हुए कह दिया कि मैं वादा करने को तो तैयार हूँ लेकिन इसके लिए उन्हें भी एक वादा करना पड़ेगा। जब उन्होंने ‘कैसा वादा करना पड़ेगा?’ के बारे में पूछा तो मैंने कह दिया कि आगे से वह डिल्डो की जगह अब वह सिर्फ मेरा ही लिंग इस्तमाल किया करने का वादा करेंगी!

मेरी यह बात सुन कर बुआ हैरान परेशान दिखने लगी और उठ कर कुछ सोचने के लिए हाल में चहलकदमी करने लगी।

लगभग दस मिनट तक हाल के चक्कर लगाने के बाद बुआ ने कहा कि वह मेरा लिंग देखने के बाद ही निर्णय ले पाएँगी कि वह वादा करेंगी या नहीं! बुआ की यह बात सुन कर मुझे पूरा विशवास हो गया कि मेरी योजना सफल हो गई थी और अब मेरा काम बनने वाला ही था!

तब मैंने उठ कर अपनी जींस और जांघिया नीचे कर के अपना सात इंच लंबा और दो इंच मोटा लिंग निकाल कर उनके हाथ में रख दिया! बुआ ने मेरे लिंग को पकड़ कर आहिस्ते से मसला जिस के कारण मेरे लिंग में जान आ गई और वह तन कर खड़ा हो गया। तब बुआ ने लिंग और कस के पकड़ा और ऊपर का मांस पीछे सरका कर सुपारे को बाहर निकल लिया तथा उसका निरीक्षण आगे, पीछे, ऊपर नीचे से किया और फिर उन्होंने झुक कर उसे चूम लिया।

उसके बाद उन्होंने मेरी ओर देख कर कहा- मैं इस लिंग को हाथ में लेकर यह वादा करती कि अभी से ही मैं इस लिंग को ही डिल्डो की तरह ही इस्तमाल किया करुँगी!

इस वादे को करने के बाद उन्होंने मेरे लिंग को एक बार फिर से चूम दिया और उसमें से निकली रस दो बूंदों को अपनी जीभ से चाट भी लिया!

बुआ के अपने कमरे में जाने के बाद मैंने भी टीवी बंद कर दिया और बत्ती बंद करके अपने कमरे की ओर जाने ही लगा था तभी बुआ ने मुझे आवाज़ लगाई!

मैं ‘जी हाँ!’ कहता हुआ उनके कमरे में गया तो देखा कि उन्होंने गाउन उतार के नग्न होकर अपने बिस्तर पर लेटी हुई थीं।

कहानी जारी रहेगी। आप सबसे अनुरोध है कि आप अपने दिल से जो भी सच्ची प्रतिक्रिया है, उसे लिख कर हमें ज़रूर भेजें! मेरा ई-मेल आई डी है [email protected] तथा मेरी गुरुजी का ई-मेल आई डी है [email protected]

बुआ का कृत्रिम लिंग-3

Comments:

No comments!

Please sign up or log in to post a comment!