Meri Kahani – Cricket Me Chudai – Part Ii

Meri Kahani – Cricket Me Chudai – Part II

मैने उसके कपड़े उठाने का प्रयास किया लेकिन इस बार उसने मेरा हाथ पकड़ के हटा दिया। मैने फिर से प्रयास किया वो मेरा हाथ वही पकड़ लीया और छोड़ा नही..

अब आगे..

इस पार्ट मे शानू की गर्लफ्रेंड का नाम बताना ज़रूरी हो गया क्यूकी आगे जो हुआ उसमे उसने मेरी बहुत मदद किया, शानू की गर्लफ्रेंड का नाम रिया था वो मढ़यप्रदेश से थी वो भी दिखने मे बहुत मस्त माल थी वो श्रुति से भी खूबसूरत दिखती थीऔर खुले विचारो वाली थी।

अब आगे की कहानी – मैने फिर से प्रयास किया वो मेरा हाथ वही पकड़ ली और छोड़ी नही,जैसे ही उसने मेरा मेरा हाथ पकड़ा मेरे को समझ नई आया की अचानक इसे क्या हो गया. मैं उसकी ओर देखने लगा तभी उसने मेरे कान के पास आकर कहा पिक्चर ख़तम होने वाली है और ये सब यहा नही, ये सुन के मेरे को तोड़ा रिलॅक्स लगा मैने अपने हाथ उसके गाल पर फेरते हुए धीरे से ठीक है डार्लिंग कहा.. और हल्का सा स्माइल दिया वो भी सर्माते हुए नीचे देखने लगी उसी समय पिक्चर ख़तम हो गया।

हम लोग बाहर निकले वो मेरा हाथ पकड़ी हुए थी मैने भी उसका हाथ पकड़ा मेरे को बहुत ही अच्छा लगा जब उसने मेरा हाथ पकड़ा (अगर आप भी लड़की को पसंद करते हो और जब उसने आपका हाथ पहली बार पकड़ा होगा तो आपको भी बहुत मस्त लगा होगा, आपको समझ आ गया होगा की मैं उस समय कैसा महसूस किया होऊँगा ) शानू मेरे को और उसको देख के तोड़ा सा अचंभित सा हो गया उसे समझ नि आया की ये क्या हो रहा है लेकिन उसकी गर्लफ्रेंड रिया समझ गयी थी.

अब हम वहा से बाहर निकले हम लोग फिर बाहर आके डिसाइड किए की खाना भी बाहर खाएँगे और मैं श्रुति की ओर देखा वो बोली ठीक है , मैने कहा तुम्हे लेट हो जायगा तभी शानू की गर्लफ्रेंड रिया ने कहा वो मेरे साथ जा सकती है अगर प्राब्लम ना होतो. तभी श्रुति ने भी तपाक से हा मे जवाब दिया मैं समझ गया मेरा मामला सेट हो गया है।

फिर हम खाना खाने चले गये, वहा शानू की गर्लफ्रेंड रिया ने हमारी बहुत खिचाई की इधर श्रुति ठीक मेरे सामने बैठी थी और पैर से मेरे पैर को मारने लगी अपनी उंगलियो से वो मेरे पैरो पे चिम्ती कांत रही थी मै कुछ बोल भी नई पा रहा था तभी रिया ने हमे देख लिया और उसने शानू को इशारा किया और इसरो मे ही कुछ कहा।

फिर शानू ने खाना खाने के बाद कहा राहुल चल हॅंड वॉश करके आते है, मैं उसके साथ चला गया वॉशरूम मे उसने मुज़से पूछा कहा जाएगा अभी मैंने कहा और कहा रूम जाऊँगा यार, फिर उसने कहा चल हमारे साथ, (ऑफीस मे उसने पहले ही बताया था की वो अपनी गर्लफ्रेंड को अपने रूम मे लाते रहता है वीकेंड पे) तो मैने कहा कोई प्राब्लम तो नयी होगा ना उसने कहा मेरा फ्लॅट है।

किसी को कोई प्राब्लम नही और रिया और श्रुति भी साथ मे जा रही है मेरे को तो कुछ समझ ही नई आया, मैने पूछा सच मे वो बोला हा तो क्या मैं यहा तेरे को मज़ाक करने के लिए लाया हूँ, फिर मैने कहा श्रुति नई मानेगी उसने कहा उसकी मत सोच तू रिया उसको अब तक बता भी चुकी होगी।

हम जब वापस टेबल पे गये तो श्रुति के चेहरे पे एक अलग सी ही ख़ुसी थी मैं तो ख़ुसी से पागल हो गया, मुज़े विस्वास ही नई हो रहा था की मैं आज उसे आज चोदने वाला हूँ बहुत प्यार करने वाला हु मेरा लंड तो वही खड़ा हो गया था.

फिर हमने बिल दिया और शानू के रूम चले गये।

शानू का रूम २ बेड रूम का था मेरा तो दिल ही खुस हो गया रूम मे पहुचते ही शानू की सेक्सी गर्लफ्रेंड ने शानू को किस किया तभी श्रुति ने कहा मेरे पास कपड़े नई है तो रिया ने मज़ाक मे कहा “आज तुम्हे कपड़े की ज़रूरत नई पड़ेगी” फिर हसी और कहा मेरा कुछ ड्रेस यही रहता है हमेशा उस रूम मे है जो चाहिए निकाल लो इतना बोल के वो दोनो एक रूम मे चले गये और कहा प्लीज़ डू नॉट डिस्टर्ब अस (हमे परेसांन मत करना) बाइ और उसने हल्की से स्माइल दी और ज़ोर से दरवाजा लगा दिया।

हम दोनो दूसरे रूम मे गये और वाहा जाते ही श्रुति से रहा नई गया जैसे वो इसी समय का इंतज़ार कर रही थी और उसने मुज़े किस किया मेरा लंड तो पहले ही खड़ा हुआ था सायद श्रुति उनके सामने शर्मा रही थी उसने मुज़े आई ल्व यू कहा, फिर मैंने भी श्रुति को अपनी बाहो मे कस के जकद लिया और आई ल्व यू कह के किस करने लगा अब मैं उसे अपने बाहों मे उठा लिया और उसके लिप्स मे किस करना चालू कर दिया वो भी मेरा भरपूर साथ दे रही थी।

अब मैंने उसे नीचे खड़ा किया वो पहले दरवाजे की तरफ गयी और लॉक लगा दी, अब मैंने अपना शर्ट उतारा मेरा एथलीट, कसा हुआ सरीर देख के उसके चेहरे मे मुस्कान थी मानो उसको उसके पसंद की चीज़ मिल गयी हो और उसने अपने बाल घुमा कर बंद लिया अब तो जैसे वो चुदाई के लिए तैयार थी, मेरा भी यह पहली ही बार था लेकिन मैं रोमेंटिक पिक्चर बहुत देखता था तो कुछ कुछ तो वही से ही सीखा था.

मैंने उसे अपने हाथो मे फिर से उठाया अब तो जैसे बोलना बंद ही हो गया था बस सब आँखो से ही बात हो रहा था, मैने उसका टॉप निकाल दिया और फिर से उसके होंठों को चूमने लगा अब तो वो और भी ज़्यादा वाइल्ड और सेक्सी हो गयी वो भी बराबर साथ देने लगी मैने उसके होंठो को अपने दाँत से दबाया वो सिहर उठी अहह की हल्की सी आवाज़ ने माहौल और भी सेक्सी बना दिया मेरा तो जैसे जोस और बढ़ गया दिन भर का क्रिकेट, पिक्चर सब का थकान मिटा दी।

मैने उसके ब्रा निकाल दिया जल्दी जल्दी मे उसके ब्रा का हुक टूट गया मैने उसका ब्रा फेका और उसे बिस्तर मे लिटा दिया और मैने उसका जीन्स निकाला वो बहुत ही टाइट था उसको निकालने के बाद मेरे और उस्के चूत के बीच मे केवल एक पैंटी ही रह गयी थी।

मैंने अब उसके पैरो पे हाथ चलाया क्या नाज़ुक पैर थे उसे गुदगुदी हो रही थी मैं फिर से उसे किस करने लगा और मैने उसके बूब्स को दबाना चालू किया इस बार तो उसके बूब्स को देख भी पा रहा था क्या मस्त कड़े गोल गोल बूब्स से मैं उनपे पागलो की तरह टूट पड़ा और उसे बहुत जोरो से चूसने लगा उसने मेरा बाल पकड़ लिया मैं उसके निपल को काटने लगा वो मेरे बालो को ज़ोर से खींची और आहा आहह की आवाज़ निकाल रही थी।

अब नीचे की ओर इसरा किया मैं समझ गया और मैने उसे खड़े होने को कहा उसने मेरा पैठ निकाला और अंडरवियर भी निकाल दिया और मेरे लंड को हाथ मे लेलिया (मेरा लंड ६ इंच का लम्बा और 3 इंच मोटा होगा मैने नापा तो नई था आपको बता दूं की सेक्स करने मे लंड उतना जाड़ा इंपॉर्टेंट नई होता, इंपॉर्टेंट होता है आप कैसे सिचुयेशन को संभाल रहे हो और आपको लड़की की पसंद का ख़याल रखना होता हो और इस्पे मैं माहिर हूँ)

वो कुछ देर मेरे लंड को उपर नीचे की मैं तो जैसे जन्नत मे पहुच गया, मैंने उसको रोका और उसके पैंटीउतार दिया वो शेव की हुई थी हल्के बाल थे और उसका चूत तो इतना टाइट लग रहा था कोई भी बता देगा की इससे पहले वो नही चूदी थी(बाद मे उसने बताया की वो पहले ही उंगली से अपनी सील तोड़ चुकी थी ग़लती से) मैने उसके चूत मे उंगली डाला वो बहुत ही गरम और गीला था।

अब हम 69 की पोज़िशन मे आ गये वो मेरा लंड मूह मे तो नही लिया मैने भी उसपर ज़ोर नही डाला वो हाथ से ही तेज़ी से लंड को उपर नीचे करने लगी मैं उसके चूत मे उंगली तो कभी अपना जीभ डाल रहा था थोड़ी देर बाद वो अपना माल छोड़ दी और जल्दी ही मेरा भी निकल गया इसके बाद तो ऐसा लग रहा था जैसे हम दोनो एक दूसरे के लिए ही बने है।

हम दोनो फिर से किस करने लगे इस बार तो दोनो एक दूसरे के जीभ को टच क्रर रहे थे मैं उसके होंठो को और वो मेरे होंठो को चूस रही थी इतने मे मेरा लंड फिर से तैयार हो गया इस बार मैं सीधे उसके चूत पे गया मैने अपना लंड उसके चूत मे टीका दिया बहुत ही टाइट था पहले मैने उपर से ही चूत पे अपना लंड रगड़ने लगा वो आह आअहह की आवाज़ हल्के हल्के निकल रही थी।

तभी मैने थोडा सा ज़ोर लगाया मेरा मोटा लंड का सुपाड़ा ही घुसा था की वो हल्के आवाज मे चीख पड़ी और मेरे हाथ को ज़ोर से पकड़ लिया मैने कोई जल्दबाज़ी नई किया और लंड को वैसे ही रहने दिया और नीचे झुक कर उसे किस किया थोड़े देर बार वो सामान्य हुई फिर मैने और अंदर डाला वो सह नही पा रही थी फिर मैने एक झटका मे अपना लंड डाल दिया इस बार उससे रहा नई गया वो ज़ोर से चिल्ला दी मैने जल्दी से उसका मूह हाथ से दबाया फिर हाथ हाथ हटा के अपने होंठ लगा दिए।

और फिर धीरे धीरे अंदर बाहर करना चालू किया अब उसको भी मज़ा आने लगा वो भी मेरा साथ देने लगी और फिर १० मिनट बाद मैं श्रुति के चूत में ही झड़ गया.
. मैंने 5-6 पिचकारी श्रुति के चूत में भर दीं। इससे श्रुति की चूत भर गई.. और वो भी बहुत खुस लग रही थी फिर मैं उसके उपर ही पड़ा रहा थक चुका था पूरी तरह, हम ऐसे ही पड़े रहे और उस रात एक दूसरे की बाँहों मे लेटे रहे मैंने उसे पिलस (दवाई) लेने को कह दिया।

सुबह हुई सुबह को हम देरी से उठे रात का थकान मिट चुका था मैने उठते ही उसे किस किया और उसको उठाया और बस पैठ पहना और जब मैं रूम का दरवाजा खोला तो देखा शानू और रिया तो पहले ही उठ चुके है।

मैं वापस रूम मे गया और वहा एक टी शर्ट रखा था वो पह्न के आया रिया ने गुड मॉर्निंग कहा मैने भी उसे गुड मॉर्निंग कहा और मूह धोके आया और फिर रिया ने कॉफी बनाया था वो गरम किया और श्रुति के लिए भी लेजा रहा था श्रुति मूह धोके रूम के दरवाजे पे ही खड़ी थी।

तभी रिया ने मज़ाक मे कहा रात मे कुछ चिल्लाने की आवाज़ आई कुछ हुआ था क्या और फिर वो हस्स दी तो श्रुति जो रूम के दरवाजे पे खड़ी थी स्माइल के साथ शरमाते हुए अंदर चली गयी शानू ने कहा रिया उसे तंग मार करो यार फिर हम सबने बैठ के कही बाहर घूमने का प्लान बनाया तो डिसाइड हुआ की कुल्लू-मनाली या फिर मैसूर जाएँगे।

रिया भी खुस थी अब उसको भी एक दोस्त श्रुति मिल चुकी थी वो दोनो एक रूम मे गये और फिर बातें करने लगे रिया ने तो उसको वो दवाई उसी समय ही दे दिया ये बात बाद मे मेरे को श्रुति ने बताया की रिया उस रूम मे दवाई रखे रहती है हमेशा ताकि कभी भी उसे उपयोग करे ताकि बच्चा ना हो..

आपको वो टूर वाली स्टोरी बाद मे बताता हूँ और ऑफीस मे भी मैने और श्रुति ने बहुत मज़े किए वो भी फिर कभी लिखूंगा टाइम निकाल के और दोस्तों मेरी मेल आई डी है “[email protected]”. कहानी पढने के बाद अपने विचार नीचे कमेंट्स में जरुर लिखे। ताकी हम आपके लिए रोज और बेहतर कामुक कहानियाँ पेश कर सकें। डी.के

Comments:

No comments!

Please sign up or log in to post a comment!