पतिव्रता बीवी की चुदाई दोस्त के बड़े लंड से करायी- 3

न्यूड इंडियन वाइफ सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी बीवी को मेरे दोस्त ने कैसे नंगी किया. फिर उसकी चूत को चूस चाट कर उसे चरम आनन्द दिलाया.

हैलो साथियो, मैं जय एक बार फिर से आप सभी का स्वागत करता हूँ. न्यूड इंडियन वाइफ सेक्स कहानी के पिछले भाग मेरी बीवी को मेरा दोस्त पसंद आ गया में अब तक अपने जाना था कि मेरी बीवी के बाजू में मेरा दोस्त बैठ गया था और वो दोनों एक दूसरे के होंठों से होंठ लगा कर चूमाचाटी करने लगे थे.

अब आगे न्यूड इंडियन वाइफ सेक्स कहानी:

फिर दोनों जो सटे, तो बस ऐसे लगा जैसे कोई प्रेमी प्रेमिका सालों से बिछड़े थे जो आज मिले हैं.

विक्रम और संजू दोनों की आंखें बंद थीं. विक्रम मेरी बीवी संजू के होंठों को बड़े प्यार अपने होंठों में दबा कर बेतहाशा ऐसे चूसने लगा, जैसे आज वो साल भर की प्यास मेरी संजू के होंठों से बुझा लेगा.

संजू भी किसी आग के दहकते शोले से कम नहीं थी. वो भी उसका साथ पूरा दे रही थी. कभी संजू विक्रम के होंठों को अपने मुँह में कैद करती, तो कभी विक्रम संजू के कोमल होंठों को अपने मुँह में कैद कर लेता और चुभलाने लगता.

कभी विक्रम संजू के मुँह में अपनी जीभ को डाल देता, जिसे संजू जोर जोर से चुभलाने लगती. कभी संजू अपनी जीभ विक्रम के मुँह में डाल देती, जिसे विक्रम चूसने लगता.

कुल मिलाकर ऐसा लग रहा था जैसे कामदेव और रति स्वयं सेक्स में लीन हों.

संजू की पूरी लिपस्टिक उसके होंठों से गायब हो चुकी थी. मैंने नोट किया वो दोनों लगातार बिना आंखें खोले और रुके 15-20 मिनट से चूमाचाटी किए जा रहे थे. मैंने आज तक इतना लंबा किस नहीं किया था.

विक्रम और संजू ने किसिंग के लगभग सारे पोज अपना लिए थे, पर अभी भी वो लोग चूमने में लगे हुए थे.

इसी दौरान किस करते हुए विक्रम ने अपना हाथ संजू के गदराई हुई चुचियों पर रख दिया और हल्के हाथ से उसके दूध मसलने लगा. मम्मों के मसलने के साथ साथ उन दोनों का चुम्बन अब भी जारी था.

संजू ने भी अपने हाथ उसी अवस्था में विक्रम के पैंट में घुसा दिया. मैंने देखा कि विक्रम का लंड पैंट के बाहर से काफी बड़ा और पूरा फूला हुआ लग रहा था.

जैसे ही संजू ने उसके लंड को स्पर्श किया, वो किसिंग करते करते ही जोर से ‘आह … ओह … इस्स ..’ की आवाज के साथ झड़ने लगी. उसने विक्रम को कसते हुए अपने आगोश में ले लिया.



शादी के बाद आज पहली बार ऐसा हुआ था कि संजू किसिंग के दौरान ही झड़ गई थी. शायद ये सब उसके ओवर एक्साईटमेन्ट की वजह से हुआ था.

उन दोनों को किस करते हुए लगभग 25 मिनट हो गए थे. फिर वे दोनों अलग हुए.

संजू की सांस धौंकनी की तरह चल रही थी. उसके होंठ पूरे सूख गए थे. उसने धीरे से आंखें खोलीं और विक्रम की ओर देखा. विक्रम भी उसे ही देख रहा था.

तभी विक्रम ने संजू के दोनों बाजुओं को पकड़कर उसे बड़े प्यार से बेड से नीचे खड़ा किया और अपने आगोश में भर लिया. संजू भी उसकी बांहों में सिमट गई.

अब विक्रम संजू की गर्दन पर, कभी उसके कानों पर, कभी चेहरे पर किस करने लगा. संजू की आंखें बंद थीं.

फिर विक्रम ने उसी अवस्था में धीरे धीरे संजू की अधखुली साड़ी को उसके जिस्म से अलग कर दिया. संजू अब सिर्फ पिंक ब्लाउज, पिंक पेटीकोट में थी.

विक्रम संजू के ब्लाउज के ऊपर से ही उसके दोनों मम्मों को धीरे धीरे मसलने लगा. वो साथ ही मेरी वाइफ संजू की गर्दन, कान, चेहरे आदि पर किस भी करता जा रहा था.

कुछ देर बाद विक्रम ने संजू के ब्लाउज के पीछे से उसकी डोरियां ढीली कर दीं और ब्लाउज को खोल दिया. ब्लाउज खुलते ही संजू की चुचियां ब्रा के ऊपर से ही नुमाया हो गईं.

उसके गोरे गारे टाईट मम्मों को देखकर विक्रम आश्चर्यचकित हो गया. संजू ऊपर से सिर्फ केलविन क्लेन की महंगी ब्रा में थी, जिससे उसके आधे से ज्यादा मम्मे साफ़ दिख रहे थे. विक्रम ने मेरी बीवी के मम्मों के क्लीवेज में अपना मुँह घुसा दिया और दोनों चुचियों के बीच में किस करने लगा.

तभी संजू ने खुद ही अपनी ब्रा में से एक मिल्की व्हाईट चुची को बाहर निकाल दिया और विक्रम के बालों को पकड़कर उसका मुँह अपने चुचे से सटा दिया. उसके इस करतब से विक्रम को संजना की जवानी की आग समझ में आ गई.

वो उसे पागलों की तरह अपनी खींच कर चूमने लगा और मेरी बीवी की एक चुची के निप्पल को चूसने और चाटने लगा.

इसी दौरान संजू ने अपनी दूसरी चुची को भी ब्रा से आजाद कर दिया और विक्रम उसका मर्दन अपने हाथ से करने लगा. संजू आंखें मूंदे हुए ‘इस्स … आह इस्स ..’ करने लगी.

विक्रम ने संजू की चुची चूसते हुए उसकी नाभि में उंगली डाल दी.

फिर वो चूची छोड़ कर नाभि के पास आ गया; मेरी बीवी की पतली और गोरी कमर को पकड़ते हुए विक्रम ने उसकी नाभि में अपनी जीभ घुसा दी और चूसने लगा.


संजू को थोड़ी गुदगुदी लगी तो वो हंस दी और बोली- आह क्या कर रहे हो आप विक्रम!

विक्रम मेरी बीवी की बात को अनसुनी करते हुए उसी तरह नाभि को चूसता रहा फिर एक पल के लिए मुँह हटा कर बोला- ऐसी वासना की मूरत और सौंदर्य की देवी, मदमस्त जवानी को मैंने आज तक नहीं भोगा है. मैं इसे हाथ से नहीं जाना देना चाहता हूँ. इसलिए मैं तुम्हारी जवानी के रस का एक एक कतरा निचोड़ कर पी लेना चाहता हूँ.

उसकी ऐसी कामुक बातें सुनकर संजू को भी जोश आ गया और वो खुश हो गई. वो प्यार से विक्रम के बालों को सहलाने लगी. वो इस समय घुटने के बल बैठकर मेरी बीवी की नाभि और कमर को चाट और चूस रहा था.

एकाएक विक्रम ने संजू का पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया. नाड़ा खुला तो सट से संजू का पेटीकोट नीचे गिर गया और संजू की केल्विन क्लेन की पिंक पैंटी दिखने लगी.

आह … क्या सजी थी आज मेरी बीवी. साड़ी, ब्लाउज, ब्रा, पैंटी सबका सब पिंक कलर का पहना हुआ था.

खैर … जैसे ही संजू का पेटीकोट उसके तन से अलग हुआ, संजू की मांसल और अत्यधिक गोरी जांघें चमकने लगीं.

मैंने देखा कि संजू की पिंक कलर की पैंटी पूरी की पूरी भीगी हुई थी. इसका मतलब ये था कि जब वो स्खलित हुई थी … तो उसकी चुत के रस से पूरी पैंटी भीग गई थी.

इस चीज को विक्रम भी समझ गया था. उसने एक बार संजू को ऊपर से नीचे देखा. उसके 34 सी साइज़ के मम्मे, पतली कमर और भरा हुआ पिछवाड़ा आह बाद मस्त नजारा था. उसकी मोटी गांड और उसके ऊपर पूरा जिस्म एकदम चांदी सा दमक रहा था.

उसे तो लग रहा था, जैसे वो किसी जन्नत की हूर के साथ सेक्स कर रहा हो. विक्रम ने आव देखा ना ताव और इसी अवस्था में संजू की पैंटी के ऊपर से ही उसकी चुत में अपना मुँह लगाकर चाटने लगा.

संजू के मुँह से ‘ईस्स ..’ की एक लंबी सीत्कार निकल आई.

विक्रम लगभग दो मिनट तक मेरी बीवी की पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत चाटते हुए उठा और उसने संजू को बेड पर धकेल दिया.

संजू पीठ के बल बेड पर गिरी और विक्रम ने बिना एक पल की देर किए, संजू की पैंटी को उसके बदन से अलग कर दिया.

मेरी वाइफ संजू अब एक गैर मर्द के सामने पूरी नंगी पड़ी थी. उसके बदन पर सिर्फ एक लटकी हुई ब्रा थी, जो कि चुचियों से अलग लटकी हुई थी.

विक्रम ने संजू की दोनों टांगों को थोड़ा चौड़ा किया और उसकी मस्त चूत को बड़ी ध्यान से देखने लगा.
संजू की चूत पूरी तरह से क्लीन शेव्ड थी. चुत पर नाम मात्र को भी बाल नहीं थे.

उसकी चूत से लिसलिसे पानी की रसधार निकल रही थी. जिससे उसकी चूत के आसपास के सभी जगह में उसका कामरस लगा हुआ था. संजू की चूत में चुतरस लबालब भरा हुआ था.

विक्रम न आव देखा ना ताव, बस झट से उसकी चूत में अपना मुँह सटा दिया और उसकी चूत के नमकीन पानी को पीने लगा.

अपनी चुत पर एक गैर मर्द की जीभ का अहसास पाते ही संजू के मुँह से ‘ओहअ … आह … इस्स ..’ की मादक आवाजें निकलने लगीं.

संजू अब अपना सर कभी इधर तो कभी उधर करने लगी. विक्रम बेड के नीचे बैठ गया और संजू की चिकनी चुत को बड़ी शिद्दत से चूसने लगा.

लगभग दस मिनट तक विक्रम ने संजू की चूत को चूसकर लाल दिया.

एकाएक संजू बोली- विक्रम मुझे जोर से सुसु आई है … प्लीज मुझे कर आने दो! विक्रम बोला- नहीं, मुझसे नहीं होगा.

संजू बोली- प्लीज जाने दो … नहीं तो यहीं हो जाएगा. विक्रम बोला- तो हो जाने दो.

इस पर संजू बोली- बेड गंदा हो जाएगा ना! विक्रम बोला- नहीं होगा … मैं सब पी जाऊँगा. मैंने बोला था ना कि तुम्हारी जवानी का एक एक कतरा रस को खा जाऊंगा … तो मैं इस नमकीन शराब को कैसे छोड़ दूँ.

विक्रम पूरे वेग से संजू की चूत को चूसे जा रहा था. एकाएक संजू कांपती हुई आवाज में बोल उठी- अह … विक्रम अअ … मेरा निकलने वाला है, प्लीज मुँह हटा लो.

पर विक्रम ने मुँह नहीं हटाया और वही हुआ, जो होना था. संजू झड़ने लगी और उसने अपनी गांड को उठा दिया.

साथ ही उसकी चुत के मूत्र छेद से ‘छुर्रर्रर्र ..’ की आवाज के साथ मूत की धार निकलने लगी. जिसे वाकयी में विक्रम ने अपने मुँह में लेकर पीने लगा. उसने पागलों की तरह चूस कर सारा मूत्र पी लिया … एक भी कतरा नीचे नहीं गिरने दिया … वो सबका सब मूत्र गटक गया.

झड़ने और मूतने के बाद संजू निढाल हो गई थी. संजू ने विक्रम से कहा- प्लीज थोड़ा रुक जाओ.

विक्रम संजू की हालत देख कर उठा और संजू के बगल में लेट गया. मैं वहीं बड़ी देर से मुठ मार रहा था, लेकिन किसी का ध्यान मेरी तरफ नहीं गया.

अचानक संजना की नजर मुझ पर पड़ी, वो संतुष्टि के भाव से मुझे देखने लगी. उसकी नजर मेरी मुठ मारने पर गई. उसे मुझ पर दया आ गई. आखिर था तो मैं उसका पति ही!

उसने मुझे अपने पास बुलाया. मैं आया तो वो मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.
ये सब विक्रम देख रहा था.

मैं ज्यादा देर नहीं टिका और उसके मुँह में ही झड़ गया. आज संजू बिना कोई नखरे के मेरा सारे वीर्य को गटक कर पी गई. मैं संतुष्ट हो गया और बाथरूम में चला गया.

लगभग पांच मिनट बाद मैं अन्दर आया तो कमरे का नजारा बड़ा कामुक था. विक्रम की गंजी उतर चुकी थी, वो सिर्फ हॉफ पैंट में था. संजू की लटकी हुई ब्रा भी निकल चुकी थी.

विक्रम बेड पर पीठ के बल लेटा था और संजू पूरी नग्नावस्था में उसके पेट पर बैठी हुई थी. वो विक्रम की गर्दन और चेहरे को चूम रही थी. बड़ा ही कामुक दृष्य था वो!

फिर संजू विक्रम के कान को चुभलाने लगी. वो विक्रम के सीने के निप्पलों को अपने दांतों में भींचकर काटने और चूसने में लगी थी. इससे विक्रम को बहुत अच्छा लग रहा था.

फिर संजू थोड़ा नीचे आई और विक्रम के सिक्स पैक्स एब्स को अपने होंठों से चूसने और चूमने लगी. विक्रम को बहुत मजा आ रहा था, वो आंखें बंद किए हुए लेटा था.

अब संजू और नीचे आ गई. विक्रम का लंड पैंट में तंबू बनाए खड़ा था, जो बहुत बड़ा दिख रहा था.

संजू अब विक्रम के पैर के अंगूठे को चुभलाने लगी, जिससे विक्रम को गुदगुदी हुई.

वो बोला- वाह भाभी, मैंने आज तक बहुत से रंडियों को चोदा है. मगर ऐसा सुख किसी को चोदने में नहीं मिला है. संजू ने हंस कर आंख मारी और बोली- तुमने भाभी कह दिया है वर्ना तो मैं खुद को रंडी जैसा ही फील कर रही थी.

तभी विक्रम ने गर्म होकर अपनी पैंट को नीचे खिसका दिया. पैंट के नीचे खिसकते ही विक्रम का विशालकाय लंड फुंफकार मारने लगा.

संजू ने जैसे ही लंड को फुंफकारते हुए देखा, वो उसकी विशालता को देख कर आश्चर्यचकित हो गई. उसके मुँह से अनायस ही निकल गया- बाप रे बाप … इतना बड़ा भी होता है!?

वाकयी में विक्रम का लंड बहुत बड़ा था. वो लगभग 7.5 इंच से कम नहीं होगा. मोटाई तो और भी ज्यादा था. मेरे लंड से भी लगभग 1.5 गुणा ज्यादा मोटा लंड होगा. विक्रम के लंड की नसें फूली हुई थीं.

सबसे खास बात ये थी कि वो एक हब्शी किस्म का लंड था … और उसका सुपारा पूरा का पूरा खुला हुआ था, जो कि बहुत ही मोटा था.

संजू आश्चर्यचकित होकर अभी भी लंड की तरफ ही देख रही थी.

तभी विक्रम बोला- भाभी इसे हाथ में लो ना! संजू ने सहमते हुए उसका लंड जैसे ही हाथ से छुआ, उसने जोर से सीत्कार भरी- इस्स … ये तो बहुत बड़ा, मोटा और टाईट है. मैं इसे नहीं ले पाऊंगी, मेरा छेद फट जाएगा.

ये सुनकर विक्रम डर गया कि सच में कहीं संजू चुदवाने से मना ना कर दे.

दोस्तो, अगले भाग में न्यूड इंडियन वाइफ सेक्स कहानी का और मजा दूंगा, बस आप मेल करके मेरा उत्साह बढ़ाइएगा. [email protected]

न्यूड इंडियन वाइफ सेक्स कहानी जारी है.

Comments:

No comments!

Please sign up or log in to post a comment!