माउंट आबू में गुजराती कपल के साथ 3सम मस्ती-2

मुझे साढ़े दस बजे ही बिमलेश की मिस कॉल आ गई। मैंने दस मिनट बाद फोन किया उसने एक घण्टी में ही उठा लिया- हेलो कैसे हो? कहीं बिजी थे क्या? राजेश- हाँ मस्त हूँ, हाँ थोड़ा सा बिजी था अब फ्री हूँ। आज काफी खुश लग रही हो, क्या बात है बताओ ना? बिमलेश- हाँ खुश तो हूँ पर मुझे शर्म आती है बताने में! राजेश- ऐसी क्या बात है जो शर्म आ रही है और जिसने की शर्म उसके फूटे कर्म, और मैंने तो आपकी रसीली कल ही चाटी है।

बिमलेश- वो रात को मैंने उनको बताया कि तुमने कल मेरी मुनिया फोन पर चाटी और चूसी थी तो वो खुश हो गए और बोले आज सोचो कि मेरी जगह तेरा वो दोस्त है, और फिर आज वो भी जोश में थे तो हमने तीन बार किया। राजेश- वाओ! फिर तो तुमको मेरा शुक्रिया अदा करना चाहिए कि मेरी वजह से तुम लोगों को इतना मजा आया। दोस्त रात में ही जब आपने मेरे योगीराज के साथ मस्ती कर ली तो आओ अब दिन में भी मस्ती करते हैं।

फिर हमारी बातें फोन सेक्स में बदल गई और हम फोन पर एक दूसरे के योगीराज और मुनिया को चूसने लगे, चाटने लगे और मैंने फोन पर ही बिमलेश को किचन में और बाथरूम में चोदा।

शाम को हिम्मत ने मुझे फोन सेक्स के लिए बधाई दी।

उसके बाद तो हम रोज ही फोन सेक्स करने लगे।

तीन चार दिन बाद हिम्मत ने मुझे रात को मेल किया। मैंने मोबाइल पे मेल चेक किया तो देखा पांच मिनट पहले ही हिम्मत का मेल आया हुआ है। मेल ओपन किया तो उसमें लिखा था: प्रिय राजेश जी, आप अपने योगीराज की फोटो अभी भेजो, मुझे अपनी बीवी को दिखानी है उसको आपका योगीराज की फोटो देखनी है इसलिए अपनी नंगी फोटो भेजो और चेहरे वाली फोटो भी भेजना। आपका चाहने वाला

मैंने उनको अपने योगीराज की चार फोटो जो अलग अलग एंगल से ली थी और उसमें योगीराज की पूरी साइज दिखाई दे रही थी भेज दी… और एक कपड़ों में चेहरे के साथ भी! सुबह मुझे साढ़े नौ बजे हिम्मत का फोन आया तो बोला- यार बिमलेश तुम्हारा योगीराज देख के बोली ‘इतना बड़ा है इसका… आपका तो आधा भी नहीं है इसके आगे!’ और फिर हमने तेरे योगीराज को देखते हुए चुदाई की. आज तो बिमलेश बोल रही थी कि आपका छोटा है, मैं तो राजेश के लंबे मोटे योगीराज से ही चुदवाऊंगी, उससे ही आएगा मजा। और शायद वो खुद तुमको आज यह बात बताएगी।

मैं बोला- ठीक है, जब बिमलेश की मिस कॉल आएगी तब आपको कॉन्फ्रेन्स में लेकर ही बिमलेश से बात करूँगा।

दस बजे बिमलेश की मिस काल आ गई, मैंने थोड़ी देर बाद हिम्मत को कॉन्फ्रेन्स में लेकर बिमलेश को फोन लगाया। बिमलेश ख़ुशी से- हेलो, कैसे हो दोस्त? राजेश- अच्छा हूँ, आप सुनाओ? विमलेश- मैं भी अच्छी हूँ। राजेश- आज बड़ी खुश नजर आ रही हो? बिमलेश- हाँ, आज खुश इसलिए हूँ कि जिससे रोज बात करती थी, उसकी फोटो भी देख लिया और उसका सब कुछ देख लिया। राजेश- मैं समझा नहीं, पूरी बात बताओ?

बिमलेश- तुमने रात को किसी को फोटो मेल की थी? राजेश- हाँ फोटो तो भेजी थी पर तुमको कैसे पता? बिमलेश- क्योंकि वो फोटो हमने ही मंगवाई थी। राजेश- ओह! फिर तो तुमने मेरा सब कुछ देख लिया। बिमलेश- हाँ, मैंने तुम्हारी सब फोटो देखी, योगीराज वाली भी, तुम्हारा योगीराज तो काफी बड़ा है, और तुम भी काफी सुंदर हो। राजेश- जी तारीफ करने के लिए धन्यवाद।

बिमलेश- हमने रात को आपकी फोटो देख कर दो बार किया। वो कह रहे थे कि योगीराज की फोटो देखकर सोचो कि इसी से तुम्हारी कर रहा हूँ। राजेश- क्या किया दो बार? और योगीराज को सोचकर क्या किया? खुलकर बताओ ना, यार शर्माओ मत! बिमलेश- मुझे शर्म आती है, तुम बेशर्म हो गए हो… (धीरे से) चुदाई की। राजेश- तो मजा आया फिर योगीराज से (धीरे से) चुदाई में? बिमलेश- हाँ आया था, बहुत मजा आया था।

राजेश- सोचो जब सोचने मात्र से इतना मजा आ रहा है तो यदि रियल में योगीराज से चुदवाओगी तो कितना मजा आएगा। बिमलेश- हाँ, मजा तो आएगा पर मेरी फट भी जायेगी तो दर्द भी होगा। राजेश- वैसे आपने एक नाइंसाफी की है मेरे साथ, आपने मेरा सब कुछ देख लिया पर मुझे अपना कुछ भी नहीं दिखाया। मुझे भी आपकी रसीली और आपके फिगर को देखना है जिससे मैं भी कल्पना में आपकी कर सकूँ (धीरे से) चुदाई! बिमलेश- यार अब तुम भी बेशर्म बन गए हो और मुझे भी बेशर्म बना दिया है। वो मैं कैसे दिखा सकती हूँ? राजेश- जैसे मैंने फोटो भेजे हैं, तुम भी मुझे भेज दो मेल से, मुझे फेस की अलग से भेज देना और चूचियों और रसीली मुनिया की नंगी और ब्रा पेंटी में भेजना। जालीदार ब्रा पेंटी है तेरे पास? बिमलेश- हाँ है पर मैं फोटो कैसे लूंगी? राजेश- तुम अपने पति से बोलना, वो तुमको बहुत प्यार करते हैं इसलिए मान जायेंगे। बिमलेश हँसते हुए- वो तो रात को ही फोटो लेने के लिए कह रहे थे, मैंने ही मना कर दिया।

राजेश- इसका मतलब तुमको मुझे तड़पाने में ज्यादा मजा आता है। बिमलेश- नहीं यार अब तो तुमको तड़पाने में नहीं, तुमसे मिलने का दिल करने लगा है, पर डर भी लगता है। राजेश- मुझे वादा करो कि मुझे आज अपनी फोटो दिखाओगी। बिमलेश- वादा नहीं कर सकती पर कोशिश करूँगी।

राजेश- वैसे मेरा तो दिल कर रहा है आपकी रसीली चाट लूँ चपररर… लुर्ररर… क्या नमकीन रसीली है रस से पैंटी भी गीली कर दी तुम्हारी मुनिया ने आहह… कब रियल में चाटने चूसने को मिलेगी चपररर… लुर्ररर… आहह… आह मुझे चाटने दो! बिमलेश (साँसों को काबू करते हुए)- तुम्हारी ये ही बात मुझे पागल कर देती है, ऐसा लगता है कि मेरी मुनिया को सच में चाट रहे हो। तुम ऐसी आवाज निकालते हो कि सच में मेरी पैंटी गीली हो जाती है। आहह… आओ और चाटो न इसको और मेरा भी योगीराज को हाथ में लेने का दिल कर रहा है।

राजेश- क्या मैं तुमको डारलिंग कह सकता हूँ? बिमलेश- हाँ, तुम मुझे डारलिंग कहो चाहे रानी कहो। राजेश- डारलिंग, क्या हाथ में ही लोगी, योगीराज मुँह से प्यार नहीं करोगी? बिमलेश- हाँ, मुँह से भी प्यार करुँगी और मुनिया से भी करूंगी। मुनिया में मीठी मीठी कसक उठ रही है आहह…

राजेश- आहह मुझे चाटने दो और दाने को चाटने दो आहह… तेरी रसीली मुनिया का रस बड़ा खट्टा आ और नमकीन सा है आह… बिमलेश- आहह…चाट जाओ और चूस जाओ ओह्ह… क्या मस्त चूसते हो जब रियल में चूसोगे तो कितना मजा आएगा आहह… मेरी पैंटी सच में गीली हो गई… मुनिया से रस टपक रहा है। राजेश- रहा नहीं जा रहा है तो हिम्मत भाई आयेगा खाना खाने तो उससे चुदवा के ठंडी कर लेना रसीली को! बिमलेश- हाँ वो तो करना ही पड़ेगा। पर जो मजा योगीराज से आएगा वो हमारे छोटे से लालू से कहाँ आएगा, वैसे बात करने का तो दिल बहुत है पर, अब खाना बनाती हूँ, इसलिए फोन रखती हूँ। राजेश- चलो ठीक है मुझे तो अपना हाथ जगन्नाथ करना पड़ेगा। बिमलेश- क्या मतलब? राजेश- यार, अब मुझे भी हाथ से ही काम चलाना पड़ेगा। बिमलेश- मैं अपने हाथ से हिला देती हूँ, तुम अपने हाथ को मेरा हाथ समझ के हिला लेना, अब रखती हूँ बाय। राजेश- बाय डार्लिंग।

शाम को मुझे हिम्मत ने बताया कि आज जब मैं लंच करने आया तो बिमलेश फूल मूड में थी और हमने दिन में ही दो बार चुदाई की। और बिमलेश तुम्हारे योगीराज की फोटो को देख देख कर योगीराज नाम लेकर ही चुदवा रही थी। अब लगता है बिमलेश जल्दी ही तुमसे चुदवायेगी। तुम बिमलेश से कहना आकर चुदाई करने की… देखो क्या कहती है। फिर हमारी बात खत्म हुई।

रात को जब मैं मेल चेक कर रहा था तो हिम्मत की मेल आई हुई थी। मेल खोली तो उसमें लिखा था: मेरे प्यारे राजेश, तुम्हारा योगीराज बहुत बड़ा और मोटा है। मुझे बहुत पसन्द है। हमने रात को योगीराज की फोटो देख के यह सोच कर चुदाई की कि मेरी बीवी की चूत को तुम्हारा योगीराज से तुम ही चोद रहे हो। तुम्हारी डिमाण्ड पर मैं अपनी बीवी की नंगी फोटो भेज रहा हूँ कैसी लगी जरूर बताना। आपके जवाब के इंतज़ार में!

मैंने देखा कि साथ में अटैचमेंट में 12-13 फोटो हैं, फोटो ओपन किये तो देखा कि गुलाबी जालीदार ब्रा में 38 इंच की बड़ी बड़ी चूचियाँ ब्रा फाड़कर बाहर आने को बेताब हैं। दूसरे फोटो में लाल जालीदार ब्रा में फोटो है और उसके बाद के फोटो बिमलेश की रसीली चूत का वो भी गुलाबी जालीदार पेंटी में और फिर एक लाल जालीदार पेंटी में उसके बाद चिकनी चूत की नंगी फोटो… अलग अलग पोज़ में थे फोटो… किसी में चूत को दोनों हाथों से खोल के लेटी है किसी में दोनों चूचियों को नंगी करके दोनों हाथों से दबा रही है.

पर सभी फोटो बिना चेहरे के थे और आखिरी एक फोटो में बिमलेश का लाल साड़ी में फुल फोटो था चेहरे के साथ में… मेरा तो योगीराज बिमलेश की चूचियों और चूत को देख के तनाव में आ गया, जिसको मैंने दो बार मुठ मारकर शांत किया.

मैंने जवाब भी लण्ड हिलाते हुए लिखा: प्रिय दोस्त, आपकी बीवी की बड़ी चूचियों और रसीली चिकनी चूत ने मेरे योगीराज को इतना पागल कर दिया कि दो बार मुठ मारकर शांति मिली. अभी तो दिल कर रहा है कि इसकी रसीली चूत को चाट चाट कर साफ़ करके चोदूँ।

अगले दिन मुझे हिम्मत ने सुबह फोन किया और बताया कि रात तो बिमलेश बड़े जोश में मुझसे अलग अलग पोज़ में फोटो खिंचवा रही थी, कह रही थी कि दोस्त ने मांगे हैं, चाहे बिना चेहरे के ले लो… वो मेरी रसीली मुनिया का दीवाना हो गया है। आज तो तुमसे खुलकर बात करेगी. तुमने उसकी चूत और चूचियों की फोटो देख ली होंगी। कैसी है मेरे बीवी? मैं बोला- यार, आपकी बीवी की फोटो देख के तो मेरा योगीराज पागल ही हो गया था, रात को दो बार मुठ मारनी पड़ी तब जाकर सोने दिया योगीराज ने। अब तो यार कुछ प्लान करो कि कहाँ चोदना है बिमलेश को? तो वो बोला- यार, तुम कैसे चोदोगे? मैं बोला- यार, मैं सुरक्षित सेक्स में विश्वास रखता हूँ इसलिए हमेशा कंडोम लगा कर चुदाई करता हूँ.

हिम्मत बोला- यार तुम एक काम करना अपना एच आई वी टेस्ट करवा लेना जिससे तुम बिना कंडोम चुदाई करना और लण्ड का पानी भी मेरी बीवी की चूत में निकालना… बिमलेश की नसबंदी हो रखी है इसलिए बच्चा ठहरने की तो चिंता ही नहीं है। तो मैंने कहा- तुमको भी बिमलेश का एच आई वी टेस्ट करवाना पड़ेगा। यदि रिपोर्ट सही होंगी तो हम बिना कंडोम भी चुदाई करेंगे। उसने कहा- वो तुम मुझ पर छोड़ दो। और एक बात तुम उसको कहना कि तुम अहमदाबाद आ सकते हो तो वो मना करेगी तो बोलना कि यदि तुम लोग माउंट आबू आ जाओ तो मैं भी माउंट आबू आ जाऊंगा, वहाँ हम मिल लेंगे और चुदाई का आनन्द भी ले लेंगे! मैं उसको कह दूँगा कि मुझे माउंट आबू जाना है काम से, तुम चल सकती हो तो वो भी मुझे बता देगी।

फिर हमने एक दूसरे को बाय बोला और हिम्मत ने मुझे गुड लक कहा।

कहानी जारी रहेगी. [email protected]

Comments:

No comments!

Please sign up or log in to post a comment!