माउंट आबू में गुजराती कपल के साथ 3सम मस्ती-5

हिम्मत लैपटॉप और पोर्न मूवी की सीडी रख कर चला गया। मैंने उसमें से एक सीडी लगाई तो उसमें एक स्कूल गर्ल अपने टीचर से चुदवाती है। क्लास रूम में टेबल पर लिटा कर टीचर अपनी स्टूडेंट की चूत चाट रहा होता है.

इतने में दरवाजा खुलने की आवाज़ आई तो मैंने देखा बिमलेश ने गुलाबी रंग की नाइटी पहनी हुई थी और बाल खुले हुए थे। मुझे तो इस समय बिमलेश बिल्कुल कामदेवी लग रही थी। मैंने टीवी चला रखा था. बिमलेश को मैंने बांहों में भरकर उसका स्वागत किया, उसको किस किया और बोला- तुम अंदर वाले बैडरूम में चलो, यहाँ टीवी चलने दो जिससे कोई समझेगा कि टीवी देख रहे हैं और हम अंदर मस्ती में चुदाई करेंगे. और मैं दरवाजा बंद करके आता हूँ।

बिमलेश अंदर गई और मैंने दरवाजा हल्का भिड़ाया, कुण्डी नहीं लगाई.

जैसे ही मैं बेड पर पहुंचा तो बिमलेश ध्यान से लैपटॉप पर लड़की को चूत चटवाते देख रही थी। मैंने बेड पर पीछे से चढ़ के बिमलेश को बांहों में लेकर उसकी गर्दन पर किस करने लगा और उसके ईयर लोब्स (कान की लो) को और कान के पीछे चाटने लगा तो बिमलेश मीठी मीठी आहें लेने लगी। राजेश- डार्लिंग, देखो कैसे चटवा रही है अपनी रसीली चूत को गान्ड उठा उठा के! मैं बिमलेश को किस करते हुए उसके कान में लैपटॉप की स्क्रीन पर चल रही चूत चटाई और चुसाई की तरफ इशारा करके बिमलेश के कान में फुसफुसाया. बिमलेश- हाँ, बहुत मजा ले रही है और सच में बड़ा मजा आता है, आज शाम को जब तुमने मेरी मुनिया को चाटा और चूसा तो मैं तो स्वर्ग में ही पहुँच गई थी। राजेश- अब मैं भी ऐसे ही तेरी रसीली मुनिया को चाटूँगा और चुसूँगा।

मैं बिमलेश की चूचियों को नाइटी के ऊपर से दबाते हुए उसको गर्दन और कान के पीछे चाटने लगा और बिमलेश भी अपने दोनों हाथों को पीछे मेरे बालों में घुमाने लगी। अब बिमलेश अपनी गर्दन घुमा के मेरे होंठों को चूमने लगी. मैं भी उसकी गर्दन को पकड़ के उसके होंठों को चूसने लगा और उसके मुंह में जीभ घुसा के उसकी जीभ से मस्ती करने लगा, अब वो मेरी जीभ चूसने लगी.

फिर उसने अपनी जीभ मेरे मुंह में घुसा दी तो मैं उसकी जीभ चूसते हुए उसकी नाइटी को उतारने लगा और नाइटी उतार कर बेड के किनारे डाल दी। इतने में मुझे हल्का सा पर्दा हिलता दिखा तो मैंने बिमलेश के होंठों को चूसते हुए ही उधर देखा तो हिम्मत पर्दे के पीछे से हम लोगों को ही देख रहा था।

नाइटी उतरते ही बिमलेश हरी जालीदार ब्रा और पैंटी में थी, मैं होंठों को चूसते हुए ही बिमलेश की चूचियों को ब्रा के ऊपर से दबाने लगा.

अब मैंने बिमलेश को मेरी टांगों के बीच में अधलेटी किया हुआ था और हमारा मुंह लैपटॉप की तरफ था। हिम्मत को हमारा साइड व्यू दिख रहा था।

मैंने धीरे धीरे बूब्स को दबाते हुए ब्रा की स्ट्रिप खोल कर ब्रा एक साइड में उछाल दी और अब एक हाथ से बूब्स दबाते हुए और दूसरे हाथ को पैंटी के ऊपर से बिमलेश की रसीली मुनिया को सहलाया तो पाया कि बिमलेश की मुनिया तो पहले ही रस निकाल कर गीली हो चुकी है. मैंने अब पेंटी के अंदर हाथ डाल कर मुनिया के होंठों पर रखा तो मेरी उंगलियां मुनिया के चूत रस में भीग गई जिनको मैंने बाहर निकाल कर बिमलेश को दिखा के चाट गया। बिमलेश मुस्कुरा के मेरे सीने से लग गई.

मैं फिर से बिमलेश के होंठ चूसते हुए एक हाथ को पैंटी में डाल कर मुनिया को सहलाने लगा तो बिमलेश भी पीछे हाथ करके मेरे जॉकी के ऊपर से कभी योगीराज को सहलाती तो कभी जोर से कस के पकड़ लेती, कभी हिला देती।

मैंने धीरे धीरे बिमलेश की पैंटी उतार कर सूंघी और चूत रस को चाटा जिसका स्वाद कसैला सा खट्टा सा था। फिर बिमलेश ने भी मेरी जॉकी उतार दी और मेरी बनियान भी! अब मैंने बिमलेश को लैपटॉप स्क्रीन की तरफ इशारा किया जिसमें अब टीचर नंगा हो गया था, लड़की टेबल से उतर गई, टीचर पीठ के बल लेट गया और लड़की टीचर के सिर की तरफ से टेबल पर चढ़ी और टीचर के मुंह पर चूत टिका कर टीचर का लण्ड चूसने लगी तो मैं बोला- डार्लिंग अब हम भी ऐसे ही चुसाई करेंगे, आओ!

मैं दीवार के सहारे सिर करके बेड पर अधलेटी पोजीशन में हो गया और सिर के पीछे तकिया लगा लिया और बिमलेश को मेरे ऊपर 69 में लिटा लिया, बिमलेश की गान्ड को पीछे से थोड़ा उठा दिया जिससे मैं दिवार से सिर लगा कर आराम से बिमलेश की चूत भी चाट सकूँ और गान्ड में उंगली भी कर सकूँ।

लैपटॉप साइड में हो गया जिससे बिमलेश मेरा योगीराज चूसते हुए भी ब्लू फिल्म का मजा लेती रहे और पोर्न मूवी की आवाज भी थोड़ी सी बढ़ा दी जिससे बिमलेश और गर्म होती जा रही थी। बिमलेश की आहें बढ़ती जा रही थी। बिमलेश ने योगीराज को अपने हाथों से पकड़ा और योगीराज को मरोड़ के योगीराज के टोपा को चाटने लगी।

मैं भी बिमलेश की चूत के होंठों के साइड से चाटने लगा और भगनासा को चाटने लगा। बिमलेश गान्ड हिला हिला के चूत को मुंह पर रगड़ने लगी।

उधर मूवी में भी लड़की टीचर का लण्ड ऊपर से नीचे तक चाट और चूस रही थी। कभी कभी लण्ड की गोलियों को चाटते हुए गान्ड के छेद तक चाट रही थी तो बिमलेश भी उस लड़की को देख देख के मेरा योगीराज भी ऐसे ही चूस रही थी, कभी लण्ड के टोपे को चाटती तो कभी चूसती, कभी लण्ड की गोलियों को चूसती, कभी मेरे गान्ड के छेद को चाटती, बिमलेश पोर्न मूवी वाली लड़की की पूरी कॉपी कर रही थी। बिमलेश भी उस लड़की की तरह लण्ड पर थूकती और चाटती ऐसे ही गोलियों पर थूक कर चाटती चूसती। उसके चूसने की आवाज सुर्रर हुल्लरर.
. रही थी।

मैं भी बिमलेश की चूत पर थूक कर चाट रहा था। अब मैंने बिमलेश की गान्ड के छेद पर थूक लगा कर एक उंगली बिमलेश की गान्ड में सरका दी तो बिमलेश थोड़ी सी कुनमुनाई और अपनी गान्ड ढीली छोड़ दी और चूत को मेरे मुंह पर दबाने लगी।

मैं बिमलेश की चूत के भगनासा को चाटने और चूत के दाने को चूसने लगा। अब मैंने बिमलेश की गान्ड से उंगली निकाली और दुबारा थूक कर अँगूठा घुसा दिया और दो उंगली चूत में घुसा दी और बिमलेश की चूत चाटते हुए अंगूठे और उंगलियों को आपस में चूत और गान्ड के भीतर रगड़ने लगा तो बिमलेश अपनी चूत को गान्ड हिला हिला कर रगड़ने लगी और जोर जोर सुर्रर करते हुए योगीराज को चूसने लगी।

मैंने बिमलेश की चूत चूसते हुए तिरछी नजर से पर्दे की तरफ देखा तो हिम्मत ने अपना नेकर उतार कर अपना लण्ड हम लोगों को देख कर हिला रहा था और मुझे थम्स अप का इशारा किया कि लगे रहो।

ऑडियो सेक्स स्टोरी- ऑडियो सेक्स स्टोरी- श्वेता और शब्दिता ब्यूटी पार्लर में लेस्बियन सेक्स सेक्सी लड़कियों की आवाज में सेक्सी बातचीत का मजा लें!

फिर थोड़ी देर बाद बिमलेश जोर जोर से आहह…उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह्ह… जोर से चाटो ना… मेरी चूत में चींटियां सी रेंग रही हैं… आहह चाटो… ओह्ह मेरे राजा… चूसो न जोर से और उंगली भी करो जोर जोर से रगड़ो! आहह… हाँ बस हाँ ऐसे ही चाटो… ओह्ह मेरी चूत… ओह्ह मेरी चूत… आहह बस मेरा निकलने वाला है… जोर से चाटो आहह… ओहहहह…

और बिमलेश ने अपनी चूत मेरे मुँह पर जोर से दबा दी और उसका शरीर अकड़ने लगा और मेरे मुँह पर चूत रस की बौछार छोड़ दी। अब मूवी में टीचर ने लड़की को टेबल से उतार कर घोड़ी बनाया और चोदने लगा तो मैंने बिमलेश को भी घोड़ी बनाया और लैपटॉप की तरफ मुंह करके योगीराज बिमलेश की रसीली मुनिया (चूत) पे लगाया और हल्का सा झटका मारा तो बिमलेश के मुँह से आहह… निकल गई।

अब हिम्मत को साइड से बिमलेश की चुदाई दिख रही थी तो मैंने हिम्मत की तरफ देखा तो वो वीडियो कैमरा से हमारी चुदाई की वीडियो भी बना रहा था। बिमलेश भी मूवी की लड़की की तरह सेक्सी सेक्सी आवाज निकाल रही थी- आहह…चोदो मुझे आहहहह… फाड़ दो मेरी भोसड़ी को… क्या लण्ड है एकदम मस्त कलन्दर… ओह्हहह… क्या चोदते हो घोड़े की तरह… आहहह… योगीराज की चोट जब बच्चेदानी पर पड़ती है तो आहहह… मजा आ जाता है।

राजेश- डार्लिंग तेरी चूत भी बड़ी मजेदार है और चूचियाँ भी बड़ी मस्त और टाइट हैं। बिमलेश- जोर से चोदो… आहह बड़ा मजा आ रहा है आहहहहह!

अब मूवी में टीचर लेट गया और लड़की ने लण्ड चूसा और लड़की टीचर की तरफ मुँह करके टीचर पर चढ़ के लण्ड चूत में लेकर चुदवाने लगी.
मैंने बिमलेश को उसकी तरफ इशारा करके वैसे ही चोदने का इशारा किया तो मैंने योगीराज निकाल लिया।

तो बिमलेश ने भी योगीराज चूसा तो उसको अपनी चूत का कसैला नमकीन स्वाद चखने को मिला, फिर बिमलेश भी उस लड़की की तरह मेरे लण्ड पर सवार हो गई अब मेरे सामने बिमलेश की बड़ी बड़ी चूचियाँ झूल रही थी तो मैं उसको दोनों हाथों से दबाने लग गया पर बिमलेश ने अपने दोनों हाथों से मेरा सिर पकड़ के मेरा मुँह चूचियों के लगा कर बोली- आहहहहह… इनको चूसो ना और मसलो इनको, इनका दूध पी जाओ आहहहह… क्या योगीराज है ओहहह… बच्चेदानी के मुँह पर रगड़ मार रहा है आहहह… बहुत मजा आ रहा है आहहह… तुम भी चोदो मुझे जैसे वो नीचे से ठोकर मार रहा है।

मैं उसको नीचे से चोदने लगा और उसकी चूचियों को दबाते हुए चूसने लगा, कभी उसके होंठों को भी चूसने लग जाता और उसके कूल्हों को दबाते हुए जोर जोर से चोद रहा था. पूरे रूम में फचफच की आवाज गूंज रही थी।

मूवी में अब लड़की टीचर के लण्ड से उतर कर एक बार लण्ड चूस कर टीचर की टांगों की तरफ मुँह करके लण्ड पर बैठ कर हाथ पीछे टीचर के सीने पर रख कर उछल उछल कर चुदने लगी और टीचर उसके बूब्स दबाने लगा। बिमलेश ने लड़की की तरह ही योगीराज से उतर कर उसको चाटा, चूसा और फिर मेरे योगीराज पर टांगों की तरफ मुंह करके सवार हो गई और चुदने लगी. मैं बिमलेश की चूचियों को मसलने लगा और कभी कमर पकड़ कर नीचे से चोदना शुरू कर देता।

बिमलेश- आहहहहह… जोर से चोदो आहह… मैं गई! और जोर जोर से लण्ड पर उछलने लगी और जैसे ही उसकी चूत ने चूत रस की बौछार मेरे योगीराज पर डाली, उसकी नजर पर्दे की तरफ चली गई तो उसने हिम्मत को हमें देखते हुए देख लिया तो तुरंत योगीराज से उतर गई। और हिम्मत वहाँ से तुरंत चला गया.

राजेश- क्या हुआ डार्लिंग? अचानक कैसे उतर गई डार्लिंग? योगीराज की सवारी में मजा नहीं आया क्या? बिमलेश फुसफुसाते हुए- डारलिंग, हमको चुदाई करते हुए मेरे पति ने देख लिया, पता नहीं क्या सोचेंगे, जाना ही होगा। राजेश- डार्लिंग ज्यादा परेशान मत हो, वो आपको बहुत प्यार करते हैं इसलिए आपको यहाँ लाये और उनको पता था कि मिलोगी तो चुदाई ही होगी, तुम जाओ पर ज्यादा परेशान मत होना!

बिमलेश ने कपड़े पहने और जल्दी से अपने रूम में चली गई।

मेरे योगीराज का पानी नहीं निकला था तो योगीराज बुरी तरह अकड़ रहा था तक मैंने बाथरूम में जाकर मुठ मारकर पानी निकाला और वापस बेड पर आ गया। चुदाई की थकान के कारण कब सो गया, मेरी रात 2.
30 बजे आवाज से आँख खुली तो देखा बिमलेश मुझे बाहर वाले बेड पर ले गई तो वहाँ हिम्मत भी साथ में था।

हिम्मत अब खुद बिमलेश को लेकर आया था, हिम्मत बोला- यार, आज की रात है तुम मेरी बिमलेश की अच्छे से चुदाई करो। तो मैं बोला- अब हम 3सम चुदाई का मजा लेंगे! फिर बिमलेश को हम दोनों के लण्ड चूसवाने लगे।

अब मैं बिमलेश को घोड़ी बना कर चोदने लगा और बिमलेश हिम्मत का लण्ड चूस रही थी।

थोड़ी देर बाद मैंने लण्ड निकाला और हिम्मत बिमलेश की चूत चोदने लगा और बिमलेश मेरा योगीराज को चूसने लगी। कुछ देर बाद मैं हिम्मत से बोला- यार, आज बिमलेश को एक साथ दो लण्ड का मजा दें? हिम्मत बोला- कैसे? तो मैं बोला- कभी तुमने बिमलेश की गान्ड को चोदा है? तो हिम्मत बोला- हाँ, महीने में एक बार गान्ड जरूर चोदता हूँ। राजेश- फिर एक काम करो, तुम गान्ड चोदना और मैं बिमलेश की चूत चोदूँगा। बिमलेश- क्यों एक साथ चूत और गान्ड फाड़ने के चक्कर में हो?

मेरी बात सुनकर हिम्मत ने लण्ड निकाल लिया, मैं बेड पर लेट गया और बिमलेश को मैंने अपने मुँह की तरफ मुँह करके योगीराज को उसकी चूत में डाला और फिर बिमलेश को पकड़ कर हिम्मत को उसकी गान्ड में लण्ड पेलने का इशारा किया कि पेल दो गान्ड में लण्ड!

हिम्मत उठा और मेरे शेविंग किट से कोल्ड क्रीम निकाल कर बिमलेश की गान्ड में भरकर अपना लण्ड उस गान्ड में रखकर हल्का सा धक्का मारा और बिमलेश के होंठों को मैंने अपने होंठों में दबा लिया जिससे बिमलेश की चीख मुँह में ही दब गई.

अब मैंने बिमलेश के बूब्स को सहलाया, उसके होंठों को चूसा और फिर हिम्मत को धक्के मारने का इशारा किया. हिम्मत ने भी आराम से धक्के मार मार कर अपना लालू बिमलेश की गान्ड में जड़ तक घुसा दिया. अब मैं नीचे से और हिम्मत ऊपर से चुदाई की ताल मिलाने लगे और बिमलेश ने एक हाथ पीछे हिम्मत के सिर पर और एक हाथ मेरे सीने पर रख कर दोहरी चुदाई का आनन्द ले रही थी.

इस आनन्द को बिमलेश मुश्किल से पांच मिनट ही झेल पाई और झड़ गई।

अब मैंने हिम्मत को नीचे आने को कहा, अब हिम्मत ने मेरी और मैंने हिम्मत की जगह ले ली।

बिमलेश ने मेरे लण्ड को चूस कर उस पर कोल्ड क्रीम लगा कर लण्ड से बोली- योगीराज जरा आराम से गान्ड फाड़ना! और फिर बिमलेश हिम्मत के लालू पर सवार हुई और खुद ही अपने हाथ से योगीराज को गान्ड के छेद पर लगा कर बोली- डार्लिंग, आज मेरी गान्ड को भी अपने योगीराज से फाड़ दो।

मैंने बिमलेश के कूल्हों पर हाथ रख कर कमर को कस के पकड़ कर धक्का मारा तो जैसे ही योगीराज का टोपा गान्ड के छल्ले में घुसा, बिमलेश दोहरी हो गई दर्द की वजह से… पर ज्यादा दर्द नहीं हुआ क्योंकि गान्ड का छेद हिम्मत की गान्ड चुदाई से खुल गया था।

मैंने बिमलेश के बूब्स को दोनों हाथों से पकड़ा और धक्के मारने लगा। नीचे से हिम्मत भी धक्कों को मेरे धक्कों से ताल मिला रहा था और बिमलेश भी मजे से सैंडविच बनी हुई थी. मैं बूब्स दबा रहा था और हिम्मत चूस रहा था।

बिमलेश- आहहहह… दर्द हो रहा है आराम से गान्ड… में… ओह्हहहह… योगीराजज… ये मूसल सा… आहहहह… लण्ड को पेलो… क्या आज गान्ड को आहहहह… फाड़ोगे मेरी आहहह… हिम्मत- यार आज सच में आहहहह… बड़ा मजा आ रहा है…यार राजेश आहहह! क्या चोद रहे हो… आहह… आज सच में बिमलेश खूब मजे ले रही है, इसकी चूत आज से पहले इतनी गीली नहीं हुई। बिमलेश- आहह…ओहहहहह… अच्छे से पेलो अब आहहहह… दर्द में ज्यादा ओह्हहहह… मजा आ रहा है आहह हहह फाड़ दो आज मेरी गान्ड और चूत को आहहहहह…

ऐसे ही हम चोदते रहे, हमने तीन बार चुदाई की और बिमलेश कम से कम आठ बार झड़ी, अब वो बिल्कुल थक गई।

चार बज चुके थे, हिम्मत बोला तुम दोनों यहीं आराम करो, मैं बेटे के पास जाता हूँ।

हिम्मत अपने रूम में चला गया और हम दोनों अंदर वाले बेड पर जाकर ए सी ऑन करके लिपट कर सो गए। सुबह सात बजे रिसेप्शन से फोन आया- सर गर्म पानी शुरू हो गया है बाथरूम में तो आप लोग फ्रेश हो सकते हैं!

मैंने बिमलेश को फ्रेश होने जगाया और बाथरूम भेजा वो फ्रेश होकर आ गई फिर मैं फ्रेश हुआ और बिमलेश को साथ नहाने को बोला तो बिमलेश बोली- मेरे कपड़े तो उस रूम में हैं! मैंने हिम्मत को फोन किया कि बिमलेश के कपड़े दे जाओ, हम दोनों बाथरूम में नहा रहे हैं। हिम्मत बिमलेश के कपड़े रख गया।

मैं और बिमलेश साथ में नहाये, मैंने बिमलेश को और बिमलेश ने मुझे साबुन लगा कर नहलाया और मेरे योगीराज को भी साबुन लगा के साफ़ किया। फिर मैंने बिमलेश को बाथरूम में शावर के नीचे चुदाई के लिए बोला तो वो बोली- रात भर चोद कर भी पेट नहीं भरा तुम्हारा? मेरी तो चूत और गान्ड दोनों दर्द कर रही है। तेरा लण्ड है या मूसल साला चोद चोद कर नहीं थका।

पर मैं नीचे बैठ कर उसकी चूत चाटने लगा और बूब्स दबाने लगा तो बिमलेश भी गर्म हो गई। फिर मैंने बिमलेश को शावर के नीचे घोड़ी बना कर चोदा, फिर हम नहा कर बाहर आये और बिमलेश ने मुझे तेल भी लगाया और फिर हमने कपड़े पहने और फिर साथ में ही ब्रेकफास्ट किया।

हिम्मत ने मुझे पन्द्रह हजार रूपये दिए और उसके बाद हम लोग वापस आये तो आबू रोड तक मैं उनके साथ ही कार में बैठ कर आया और आबू रोड से फिर मिलने का वादा करके अपने अपने घर चले गए।

आपको मेरी कहानी और मेरे विचार कैसे लगते हैं, मुझे जरूर लिखो। आगे भी आप लोगों को मैं अपने असली अनुभवों से अवगत करवाता रहूँगा, तब तक के लिए गुड बाय! आप मुझे फेसबुक पर मैसेज दे सकते हैं और मेरी मेल आईडी पर भी। मेरा फेसबुक और मेल आईडी [email protected]

Comments:

No comments!

Please sign up or log in to post a comment!